National Dastak

 
दलित आन्दोलन से घबराई बिहार सरकार- प्रो. रतन लाल
 
सामाजिक क्रांति के अग्रदूत थे संत गाडगे बाबा
 
आम आदमी की आवाज़ 'नेशनल दस्तक' 
 
‘नेशनल दस्तक’ वेबसाइट का पन्ना एक उम्मीद लेकर खुलता है
 
बहुजनों का मीडिया 'नेशनल दस्तक'
 
'नेशनल दस्तक' राष्ट्र के निर्माण का नया स्तम्भ 
 
आवाम की आवाज़ 'नेशनल दस्तक'
 
युवराज के ‘विस्फोटक’ के डर से जनता के विश्वास से समझौता कर बैठे मोदीजी
 
नोटबंदी से पीएम फंसे या पीएम ने लोगों को फंसा दिया ?
 
आपका दाहिना हाथ ही भ्रष्ट है तो फिर किसके खिलाफ लड़ाई की बात कर रहे हैं मोदीजी
 
नारीवाद की आड़ में पनपते नारी के दुश्मन
 
बुद्ध की मूर्ति रखना फैशन और बात मानना मूर्खता
 
वसीम अकरम त्यागी की चिट्ठी औवेसी के नाम
 
अर्थव्यवस्था की चिता जल रही है
 
नोटबंदी पर संसद के बदले रैलियों में क्यों बोलते हैं मोदी....
 
निहत्थे दलितों पर टूट पड़े नीतीश कुमार के जनरल डायर
 
भागलपुर में गरीबों की हकमारी पर प्रशासन का अजीबोगरीब निष्कर्ष
 
मानवाधिकार दिवस के दिन भागलपुर में मानवाधिकार की पड़ताल
 
नोटबंदी के आंसू...
 
सबकी आंखों में यूं ही नहीं चुभती थीं जयललिता
 
दलित मुस्लिम एकता को ख़त्म करने की साजिश के 24 साल ...
 
मेरे बाबासाहेब प्यासे चले गए ...
 
बाबा साहेब के परिनिर्वाण दिवस के मायने 
 
संघ परिवार, दलित पूंजीवाद और दलित मुक्ति की संभावनाएं
 
क्या मोदी अब गरीबों की हत्या करवाएँगे?
 
मैं हज हाऊस हूँ!!!!
 
नोटबंदी: परेशान जनता, बदहवास सरकार
 
देशभक्ति न हुई अंडे का ऑमलेट हो गया
 
ना खाऊंगा न खाने दूंगा वाले आधा आधा बांट रहे हैं
 
सोशल मीडिया पर मैसेज का रिप्लाई कर दिया तो "धार्मिक", नहीं किया तो "रंडी"    
 
क़ज़ाख़स्तान की आज़ादी के 25 साल, नूरसुल्तान ने देश को सोलह गुना तरक़्क़ी दी
 
आपका रोम-रोम तो कॉरपोरेट के पास गिरवी रखा है मोदीजी
 
जय भीम- लाल सलाम और वामपंथ 
 
नोटबंदी से क्या मिला?
 
परेशान देश और रोता प्रधानमंत्री
 
ट्रोल करने वालों के नाम डॉ ओम सुधा की प्यार भरी पाती 
 
कितनी लाशें गिनने के बाद शोक मनाएगी ये सरकार
 
56 इंच वाले सर जी 50 दिन बाद आपको फांसी देने वाला बचेगा कौन?
 
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के नाम हिमांशु कुमार का पत्र
 
स्वराज इंडिया का एक सकारात्मक प्रस्ताव: ताकि कालेधन पर लगाम लगे
 
अकुशल सर्जरी के लिए मोदी, जेटली और पटेल की जगह तिहाड़ में क्यों नहीं होनी चाहिए ?
 
सोनम गुप्ता बेवफा नहीं, यह मर्दों की कुंठा है
 
हेड शेव कराया है क्यों.. बस मन किया
 
पतन की राह पर महाबली!
 
‘मुद्रा-संकट’: क्या यह दलित-मुस्लिम उभार को भटकाने की चाल है?