National Dastak

 
‘मुद्रा-संकट’: क्या यह दलित-मुस्लिम उभार को भटकाने की चाल है?
 
हिंदुत्व जीवन जीने का तरीका है तो इस्लाम या कोई अन्य धर्म क्यों नहीं?
 
ऐसे पति परमेश्वर से तो दरवाज़े पर बैठा दरवेश अच्छा...
 
मोदी जी कालाधन वाले तो आपके अपने हैं, गरीबों के नोट में कालाधन कहां
 
बीजेपी को डेमोक्रेसी नहीं डिक्टेटरशिप पसंद है
 
किसी भी मीडिया चैनल में दम नहीं कि, वह सुरेश चव्हाणके की खबर को चलाये
 
डा. लोहिया के विचारों से विमुख, मुलायम सिंह की निजी संपत्ति बनी समाजवादी पार्टी
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक नागरिक का खुला पत्र
 
NDTV बैन किसी चैनल का मसला नहीं, अदालत, प्रेस और विपक्ष को ठिकाने लगाने की तैयारी
 
ये बहुजनों का अघोषित आपातकाल है... मोदीजी थोड़ा लेफ्ट हो जाइये
 
‘चूतिया’ एक आम गाली जो स्त्री की योनि से ही जुड़ी है
 
हिन्दू धर्म नहीं है, हिन्दू एक राजनैतिक शब्द है
 
"राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ" की असली जन्मकुण्डली
 
कैसे होता है आन्दोलन का जन्म: दलित आन्दोलन के सन्दर्भ में विशेष
 
पॉलिटिक्स बड़ी प्यारी चीज़ है, जमके करो प्यारे..
 
जब मैं पहली बार भागी
 
सोशल जस्टिस के पुरोधाओं की पोल खोलता है मियांपुर!!!
 
संविधान की ‘समीक्षा’ बनाम संविधान की ‘सुरक्षा’
 
बोलिए क्या लौटा पायेंगे आप: नरेंद्र मोदी के नाम वसीम अकरम त्यागी का खुला ख़त
 
मुख्यधारा का रंगमंच वास्तव में घोर ब्राह्मणवादी, मर्दवादी और जातिवादी है
 
मुसलमानों को तीन तलाक के बारे में मत समझाइये, अपना घर संभालिए
 
वर्जिनिटी या मर्दवादियों का मनोरोग
 
आदिवासी महिलाओं की नजर में विकास के मायने
 
गुनाहों पर पर्दे का औजार है राष्ट्रवाद
 
अपनी खीझ में आप चाहे तो उसे बदचलन कहिए या देशद्रोही
 
यह नियो हिन्दुइज्म या नियो वेदांत संभवतः दुनिया का सबसे नया और सबसे असुरक्षित धर्म है
 
क्या बड़े विद्रोहों को आमंत्रण देगा बड़कागांव गोलीकांड?
 
ब्राह्मणवादी मर्दवाद की जड़ में मट्ठा डालती हरियाणा की बेटी
 
आराधना समदरिया की मौत को देखते हुए ज़रूरत है कि हम धर्म और इसके रीति-रिवाजों पर पुनर्विचार करें
 
हथियार नहीं, अर्थव्यवस्था होती है राष्ट्र की ताकत
 
तीसरी श्रेणी के नागरिक हैं ओबीसी
 
मिथकों में दफन बहुजन नायक-नायिकाओं की तलाश
 
लेकिन जिनके हाथ में तंत्र है, क्या वे ऐसा आसानी से होने देंगे
 
बौद्ध धर्मांतरण कर बाबा साहेब ने दिखाई परिवर्तन की राह
 
पाक की राह पर भारत!
 
जनेऊ राष्ट्रवाद बनाम बहुजन राष्ट्रवाद
 
अखलाक से लेकर नवाजुद्दीन तक .. राष्ट्रवाद जारी है
 
एक भांड चाहिए, सो हज़ारों भांड दे दो उसे
 
तिरंगे में लिपटा लोकतंत्र का शव
 
रोहित वेमुला केस: किसको बचाने की कोशिश है रुपनवाल कमीशन की रिपोर्ट?
 
राष्ट्रवाद भाजपा के लिए वोट मशीन है
 
झारखंड में ‘सर्जिकल स्ट्राईक’ के निहितार्थ
 
बुद्ध और धम्म को डॉ. आंबेडकर के नजरिये से देखना जरूरी
 
विश्वविद्यालयों में आपातकाल है! महाश्वेता बैन हैं
 
खैरलांजी जारी है