ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
सिनेमा

RJ मलिष्का ने मुंबई के गड्ढों का हाल बताया तो BMC ने भेज दिया नोटिस

मुंबई। मशहूर रेडियो जॉकी मलिष्‍का को मुंबई के सड़कों पर बने गड्ढ़ों के बारे में बोलना भारी पड़ गया। मुंबई महानगर पालिका ने मलिष्का के घर नोटिस भेजा है। ये नोटिस मलिष्का की मां लिलि मेंडोसा के नाम जारी किया गया है। बीएमसी ने मलिष्का को बांद्रा स्थित उनके घर पर मच्छरों को पालने के आरोप में नोटिस भेजा है। मलिष्का को बीएमसी ने एमएमसी एक्ट की धारा 381बी के तहत नोटिस भेजा है।

खास बातें-

  1. शिवसेना शासित बीएमसी ने आरजे मलिष्का को भेजा नोटिस
  2. नोटिस में लिखा- गमलों में मच्छर पालती हैं मलिष्का
  3. मलिष्का ने मुंबई के गड्ढों पर वीडियों जारी किया था
  4. शिवसेना का आरोप- बीएमसी को मलिष्का ने किया बदनाम

अधिकारियों का कहना है कि रूटीन सर्वे के दौरान आरजे अलिष्का के बांद्रा में पाली नाका स्थित फ्लैट पर मच्छर पाए गए हैं। नोटिस में लिखा हुआ है कि आरजे के घर पर मिट्टी के कटोरे में पानी भरा हुआ था, जिसमें एडीज़ मच्छर पलते हुए पाए गए हैं, इसके अलावा घर के भीतर लगे पौधों के गमलों में मच्छर पलते पाए गए हैं।

पढ़ें- …तो इस वजह से मोदी सरकार की आंख का काटा बने हुए हैं अमर्त्य सेन

इस बारे में बांद्रा के वार्ड अधिकारी शरद उघाड़े का कहना है, ‘हमने बांद्रा में मंगलवार को रूटीन निरीक्षण किया था। इसके बाद यह नोटिस जारी किया गया है। बीएमसी फ्लैट के मालिक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सकती है।’

दरअसल सच्चाई यह नहीं है सच्चाई कुछ और है। कुछ दिन पहले अपने चैनल के माध्यम से मलिष्का ने मुंबई में गड्ढों और सड़कों पर भरे पानी को लेकर एक वीडियों जारी किया था। इस वीडियो के माध्यम से मलिष्का ने बीएमसी पर सवाल उठाया था।

क्लिक कर देखें वीडियो

मलिष्का ने इस वीडियो में मुंबई के गड्ढों पर एक गाना गाया था जो काफी वायरल हुआ था। शिवसेना ने मलिष्का के इस वीडियो का विरोध भी किया था। वीडियो में गाने के माध्यम से कहा गया था कि कि बीएमसी की मानसून से पहले कोई तैयारी नहीं है।

http://www.youtube.com/watch?v=uIWWxWZTvWk

इसी को लेकर वह शिवसेना के निशाने पर आ गई हैं। शिवसेना कह रही है कि वीडियो के माध्यम से चैनल और मलिष्का बीएमसी को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं मंगलवार को सेना कॉर्पोरेटर समाधान सारवंकर ने एफएम चैनल के खिलाफ 500 करोड़ रुपए की मानहानि का दावा ठोंकने की मांग की है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved