fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

गरीबी व बेरोजगारी से तंग आकर सिविल इंजीनियर ने लगाई फाँसी

हिमाचल प्रदेश के मंडी में एक सिविल इंजीनियर ने गरीबी और बेरोजगारी से तंग आकर आत्महत्या कर ली। यह घटना  मंडी जिला के सुंदरनगर उपमंडल  की जुगाहण गावँ की है जहाँ एक 24 वर्षीय सिविल इंजीनियर ने फंदा लगाकर अपनी जान दे दी जैसे ही  पुलिस को इस घटना की खबर हुई वह घटनास्थल पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया।

Advertisement

शव का सिविल अस्पताल सुंदरनगर में पोस्ट मॉर्टम करवाने के बाद उसे  परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने इस पर मामला दर्ज करके छानबीन तेज कर दी है।

सुन्दरनगर पुलिस को मिले जानकारी के अनुसार  24 वर्षीय निखिल जिला मंडी में  सुंदरनगर तहसील के जुगाहण गाँव का रहने वाला था। मृतक के पिता का नाम विजय कुमार है, छोटे भाई ने जब निखिल को फंदे से लटके हुए देखा तो उसे बहुत मशक्क्त के साथ नीचे उतारा परन्तु तब तक निखिल दम तोड़ चूका था इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गई, पुलिस मौके पर तत्काल पहुँच गई और शव को अपने कब्जे में ले लिया।

पुलिस ने निखिल के परिजनों का बयान दर्ज करवाने के बाद शव का सिविल अस्पताल में पोस्टमॉर्टम करवाया, इसके बाद शव को परिजनों को सौप दिया।

बताया जा रहा है निखिल बेरोजगारी के कारण और नौकरी न मिलने के वजह से उसने यह कदम उठाया है।


युवक का परिवार बहुत गरीब है निखिल उनकी रोजी रोटी का उचित प्रंबंध न कर पाने के कारण तनाव में रहता था। इसी कारण निखिल ने ये कदम उठाया

पुलिस थाना  प्रभारी इंस्पेक्टर गुरबचन सिंह ने बताया की विजय कुमार के पुत्र  निखिल कुमार ने कमरे में फंदा लगा कर अपने को जीवन समाप्त कर लिया।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

0
To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved