ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

बाबरी मस्जिद की तरह ताजमहल को भी डायनामाइट से उड़ाने की हो रही है साजिश- आजम खान

आगरा। ताजमहल पर चल रहे विवाद के बीच समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने कहा है कि बाबरी मस्जिद की तरह ताजमहल को भी डायनामाइट से उड़ा दिया जाएगा। साथ ही कहा कि यह लीपापोती इसलिए हो रही, क्योंकि पूरी दुनिया का दबाव है। टाइम्स नाउ से बात करते हुए आजम खान ने कहा कि पूरे देश में जिस तरह का माहौल बाबरी मस्जिद टूटने और ढहाने से पहले बना था।

उन्होंने कहा कि यह माहौल एक दिन में नहीं बना था, यह माहौल कई वर्षों तक चला। इंसाफ पसंद लोगों को याद होगा कि सुप्रीम कोर्ट का स्टे था, हाईकोर्ट का स्टे था, उस वक्त के यूपी के मुख्यमंत्री का कोर्ट में हलफनामा था, लेकिन इसके बाद भी 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद को डायनामाइट से उड़ा दिया गया। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि आज जो भी लीपापोती हो रही है, वह इसलिए हो रही है क्योंकि पूरी दुनिया का दबाव है।

उन्होंने कहा कि यह एक ऐतिहासिक स्मारक है और पूरी दुनिया का सातवां अजूबा है। सिर्फ दुनिया के दबाव की वजह से ताजमहल बचा हुआ है। ताजमहल को डायनामाइट से उड़ाना है। पीएनओ की किताब में जो कुछ भी लिखा गया है, उन सब पर फासिस्ट ताकतों ने अमल किया। आरएसएस ने उस पर अमल किया। उन्होंने अपनी किताब में लिखा है कि यहां शिवजी का मंदिर था। अगर मंदिर के नाम पर बाबरी मस्जिद को उड़ा दिया गया तो कोई भी इबादतगाह या इमारत नहीं बच सकती।

इससे पहले बीजेपी विधायक संगीत सोम ने मुगल कालीन शासकों के इतिहास को देश के लिए कलंक बताते हुए कहा है कि इतिहास से मुगलकालीन शासकों को निकालकर अब उत्तर प्रदेश में हिंदुओं के इतिहास को दर्शाया और पढ़ाया जाएगा।

बीजेपी विधायक के बयान पर विपक्ष ने बीजेपी को आड़े हाथों लिया था। समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने बीजेपी नेता को चुनौती देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री को लाल किले से झंडा फहराना छोड़ देना चाहिए। गीतकार जावेद अख्तर ने संगीत सोम को छठवीं कक्षा की किताब पढ़ने की सलाह दी।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved