ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

मंडीः दलित महिला की पिटाई के मामले में जांच करने पहुंचे DSP

मंडी। दलित लोगों पर अत्याचार की घटना कम होने का नाम ही नहीं ले रही। ताजा मामला सराज की मुरहाग पंचायत के गांव खुनागी का है। जहां की दलित महिला पर हमला करने के मामले में डीएसपी मंडी ने खुनागी गांव में जाकर घटनास्थल पर पहुंचे तथा पीड़ित पक्ष के बयान कलमबद्ध किए।

 

बता दें कि 19 अप्रैल को उधीगाड़ निवासी कांशी राम ने महिला जबला देवी के मुंह पर पत्थर मारा था और इस पर गोहर थाना में मामला भी दर्ज हुआ था। डीएसपी मंडी हितेश लखनपाल ने बताया कि आरोपी को पुलिस ने पांच दिन हिरासत में लिया था लेकिन अब उसे जमानत मिल चुकी है।

 

पढ़ें- झारखंड: भाजपा सरकार की गलत नीतियों की वजह से भूखे मरने के कगार पर आदिवासी

 

डीएसपी ने बताया कि इस मामले को गम्भीरता से लिया गया है और आरोपी को उसके किए की सजा जरूर मिलेगी। यह मामला एससीएसटी एक्ट के तहत दर्ज हुआ है। इतना ही नहीं पीड़ित पक्ष को मामला दर्ज करने के लिए धरना प्रदर्शन करना पड़ा था। पीड़ित पक्ष ने पुलिस की लापरवाही के बारे डीएसपी मंडी से अपनी बात को बताया है।

 

पीड़ित का कहना था कि उन्हें मामले को दर्ज करने के लिए 2 घंटे इंतजार करना पड़ा और उसके बाद मेडिकल लगभग तीन घंटे बाद हुआ था। डीएसपी ने पीड़ित पक्ष को आश्वासन देते हुए बताया कि भविष्य में ऐसा नहीं होगा अगर किसी का मामला पुलिस दर्ज नहीं करती है या फिर नहीं सुनती है तो थाने में उनका मोबाइल नंबर है जिस पर पीड़ित उन्हें शिकायत कर सकता है।

 

पढ़ें- योगीराज में खाकी की गुंडई: बुजुर्ग को बेरहमी से पीटा, सड़क पर घसीटा

 

क्या था मामला
खुनागी गांव की दलित महिला जबना देवी अपने घर के साथ अपना काम कर रही थी कि सामान्य वर्ग से संबंधित उधीगांड निवासी कांशी राम समस्त गांव वालों को जातिसूचक शब्दों से गालियां दे रहा था कि वे उसके घर के साथ वाले मंदिर में पूजा करने न जाए। जब जवना देवी ने विरोध किया तो कांशी राम ने पत्थर से महिला के मुंह पर जानलेवा हमला किया था और मारपीट भी की थी।

 

 

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved