fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

महिलाओ के सबरीमाला मंदिर में प्रवेश मामले में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला आज

sabarimala-sc-5

इन दिनों सुप्रीम कोर्ट के सवैधानिक पीठ ने काफी बड़े-बड़े मुद्दों पर फैसला सुनाया है ,और आज भी सुप्रीम कोर्ट काफी लंबे समय से चल रहे सबरीमाला मंदिरपर आज फैसला दे सकती है जिसमे सबरीमाला मंदिर पर महिलाओ के प्रवेश के मामले में आज फैसला सुनाया जायेगा।

Advertisement

क्या है सबरीमाला मंदिर का मामला

sabrimala temple

केरल का सबसे प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर का मुद्दा 2006 से सुप्रीम कोर्ट में अटका पड़ा है, केरल के इस मंदिर में 10-50 साल की महिलाओ को मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं है क्योंकि यही वह आयुवर्ग है जिसमें महिलाओं को पीरियड्स आते हैं। सबरीमाला मंदिर के अधिकारी व मंदिर के पुजारिओं के अनुसार भगवान् “अयप्पा” जिनका यह मंदिर है वह अविवाहित थे जिसके कारण ही वह इस परंपरा को मानते है।

मंदिर में आने से पहले यह तर्क दिया जाता है की मंदिर में किसी व्यक्ति को आने से पहले 41 दिनों का व्रत रखना होता है, पर शारीरिक मामलो के कारण जिन्हे पीरियड्स आती है उस आयु वर्ग की महिलाये यह व्रत नहीं रख पाती जिसके कारण उन्हें मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं है।


temple

2006 में लिंग आधारित समानता को मुद्दा बनाते हुए वकीलों के एक समुदाय ने कोर्ट मे याचिका डाली थी जिसपर 2016 में तो राज्य सरकार ने महिलाओं के प्रवेश का विरोध किया था, मगर हाल में हुई सुनवाइयों में उसने प्रवेश दिए जाने का समर्थन किया है।

सुप्रीम कोर्ट ने 2017 में सवैधानिक पीठ का गठन किया था ताकि यह देखा जा सके की यह परंपरा मौलिक अधिकारों का उल्लंघन तो नहीं कर रही. या फिर इसे संविधान के तहत ‘आवश्यक धार्मिक प्रथा’ माना जा सकता है या नहीं। जिसका फैसला आज सवैधानिक पीठ को करना है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

0
To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved