ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

गोरखपुर में 60 बच्चों की मौत पर भड़के लोग, बोले- मासूमों की हत्या पर इस्तीफा दो योगी

60 kids die in five days at brd hospital gorakhpur

नई दिल्ली। गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 5 दिनों में करीब 60 बच्चों की मौत हुई है। शुक्रवार को ही करीब 30 बच्चों सहित 48 लोगों की मौत हो गई। इस मामले को देखते हुए यूपी सरकार ने मेजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं।

मुख्य बातें-

  1. बकाये को लेकर फर्म ने रोकी ऑक्सीजन की आपूर्ति
  2. चेतावनी के बावजूद चुप्पी साधे रहा अस्पताल
  3. योगी आदित्यनाथ ने किया था दो दिन पहले इसी अस्पताल का दौरा
  4. यूपी सरकार ने मेजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए

बाल चिकित्सा केंद्र में बच्चों की मौतों के लिए इंफेक्शन और ऑक्सीजन की सप्लाई में दिक्कत को जिम्मेदार ठहराया गया है, लेकिन अस्पताल और जिला प्रशासन ने ऑक्सीजन की कमी को मौत का कारण मानने से इनकार किया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक ऑक्सीजन सप्लाई ठप होने की वजह से यह हादसा हुआ है। अस्पताल पर 68 लाख रुपये की बकायेदारी होने के बाद ठेकेदार ने सप्लाई देने से हाथ खड़े कर दिए थे।

पढ़ें- योगी सरकार का फरमान: मदरसों में फहरायें तिरंगा, करायें वीडियोग्राफी

इस वजह से अस्पताल की ऑक्सीजन सप्लाई बाधित हो गई। सभी बच्चे महराजगंज, सिद्धार्थ नगर और कुशीनगर के बच्चे हैं। चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने इसकी मजिस्ट्रेट जांच कराने को कहा है। उन्होंने माना कि ऑक्सीजन के पेमेंट को लेकर विवाद था, लेकिन ये मौत इससे पहले और बाद की हैं।

https://youtu.be/nudL0RbPcY4

राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने दो दिन पहले मेडिकल कॉलेज का दौरा किया था और बाल चिकिस्ता केंद्र निरीक्षण किया था। यही नहीं उन्होंने 10 बेड वाले आईसीयू, 6 बेड वाले क्रिटिकल केयर यूनिट का उद्धाटन किया था तथा जापानी एन्सेफलाइटिस वायरस से ग्रस्त बच्चों के वार्ड का दौरा किया। इस घटना के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा भड़का। सोशल मीडिया पर लोगों ने योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे की मांग की है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved