ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

योगी का रामराज्य: संस्कृति की रक्षा करने वाले कथित ठेकेदारों ने विदेशी जोड़े को जमकर पीटा

फतेहपुर सीकरी। जहां एक तरफ पीएम मोदी विदेशों में जाकर अतिथि देवो भव की बात करते हैं वहीं दूसरी तरफ भारत में सैलानियों पर उनकी ही सरकार में हमले किए जाते हैं। खबर के अनुसार, फतेहपुर सीकरी में स्विटजरलैंड के एक प्रेमी जोड़े को योगी आदित्यनाथ के राज्य यूपी में लाठी-डंडों और पत्थरों से हमला किया गया। उन पर आरोप था कि वे खुलेआम एक-दूसरे को किस कर रहे थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, क्वेंटिन जेरेमी क्लेर्क(24) अपनी प्रेमिका मैरी द्रोज(24) के साथ 30 सितंबर को भारत आये थे। क्लेर्क ने बताया कि वह अपनी प्रेमिका के साथ आगरा में घूमने के बाद फतेहपुर सीकरी में रेलवे स्टेशन के निकट घूम रहे थे तभी समूह ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया और बाद में उन पर हमला किया।

https://www.youtube.com/watch?v=u2v1ziBbBdY

जोड़े ने कहा कि वे जमीन पर घायल और खून से लथपथ पड़े थे और वहां खड़े लोग अपने मोबाइल फोन से उनका वीडियो बना रहे थे। पुलिस ने प्रारंभिक जांच के बाद अपनी तरफ से अज्ञात युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। जांच में यह भी साफ हुआ है कि पत्थर मारने वालों ने हमले से पहले हूटिंग भी की थी। वहीं दूसरी तरफ जख्मी पर्यटक को प्राथमिक उपचार के बाद अपोलो रेफर किया गया था।

https://www.youtube.com/watch?v=yMYTk5tGRL8

युवती के मोबाइल में कुछ फोटोग्राफ भी हैं। उन्हें प्राप्त करने के लिए एक दारोगा को दिल्ली भेजा गया है। जांच में साफ हुआ कि दोनों सुनसान जगह पर एक दूसरे को किस कर रहे थे। इसी दौरान कुछ युवक वहां आ गए। पहले हूटिंग की उसके बाद उन्हें पत्थर मारे। दारोगा पुष्पेंद्र सिंह ने अज्ञात युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा जांच शुरू की थी। जिसके बाद पुलिस के हाथ कुछ सुराग लगे हैं। पता चला है कि विदेशी युवती ने घटना से पहले अपने मोबाइल से कुछ फोटोग्राफ लिए थे। उन फोटोग्राफ में वे युवक कैद हो सकते हैं जिन्होंने हमला किया था।

https://www.youtube.com/watch?v=q4OJ2mrIu-I

वहीं प्राथमिक उपचार करने वाले डाक्टर पियूष अग्रवाल ने बताया कि पर्यटक क्वांटम क्लार्क के सिर में गंभीर चोट थी। उन्होंने दर्द का इंजेक्शन तक नहीं लगवाया था। इस कारण उन्हें ज्यादा दिक्कत हो रही थी। बेहतर इलाज के लिए पर्यटकों की मर्जी पर ही उन्हें अपोलो भेजा गया है।

रविवार को घायल विदेशी पर्यटकों को आगरा भेजने के लिये 108 नम्बर की फतेहपुर सीकरी एंव किरावली की एम्बूलेंस खराब थी। घायल विदेशी पर्यटकों को इलाज के लिए जिला अस्पताल प्राइवेट वाहन से भिजवाया गया था। इस व्यवस्था से भी वे हैरान थे और सहम गए। आगरा में इलाज कराने से इ्न्कार के बाद उन्हें दिल्ली रेफर किया गया था।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved