ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

दलिक लेखक कांचा इलैया पर चप्पलों से हमला, हमलावरों ने कहा-वंदे मातरम बोलो या देश से बाहर जाओ

हैदराबाद। दलित चिंतक और लेखक प्रो. कांचा इलैया पर एक बार फिर हमला किया गया है। बुधवार को उनपर चप्पलों से हमला किया गया। प्रदर्शनकारी यहीं रुके उनपर अंडे तक फेंके गए। तेलंगाना के जगतियाल जिले में यह घटना तब हुई जब वह कोरुतला कोर्ट से बाह निकलकर अपनी कार में बैठने जा रहे थे। हालांकि बाद में वहां मौजूद पुलिस कर्मियों ने किसी तरह उन्हें वहां से सुरक्षित निकाला।

कांचा इलैया की किताब ‘सामाजिका स्मगलेर्लु कोमाटोलु’ का विरोध हो रहा है। इस किताब में वैश्य समुदाय के सदस्यों को सामाजिक तस्कर कहा गया है। किताब का आंध्र प्रदेश और तेलंगाना जैसे दो तेलगु प्रभावी राज्यों में व्यापक विरोध हो रहा है।

‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक इलैया ने मीडिया को बताया कि आर्य वैश्य समुदाय के लोगों ने उनपर हमला किया। इलैया उन लोगों पर ये आरोप भी लगाया कि उन लोगों ने मुझसे कहा कि या तो वंदे मातरम बोलो या देश से बाहर चले जाओ।

https://www.youtube.com/watch?v=eU4VDlYRH44

ट्विटर हैंडल @Ashi_IndiaToday ने इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर अपलोड किया है।

बता दें कि यह पहला मामला नहीं है जब दलित लेखक कांचा इलैया पर हमला हुआ हो।  इससे पहले सितम्बर महीने में भी उनपर हमला हुआ था। वारंगल जिले में वैश्य समुदाय के लोगों ने लेखक को निशाने पर लेकर उन पर चप्पल फेंकी थी।

https://www.youtube.com/watch?v=ue-wiEwZ3vg

कांचा यहां एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए थे। जैसे ही प्रदर्शनकारियों को इसके बारे में पता चला तो उन्होंने वहां पहुंचकर नारेबाजी शुरू कर दी थी। प्रदर्शनकारियों के हमले से बचने के लिए कांचा को पुलिस स्टेशन में शरण लेनी पड़ी थी।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved