ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
खेल

महिला खिलाड़ियों के साथ BCCI करता है भयानक भेदभाव, ये रहा काला चिट्ठा

नई दिल्ली। आज भारतीय महिला क्रिकेट विश्वकफ का फाइनल मुकाबला हो रहा है। भारतीय टीम ने सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से मात देकर अपनी जगह पक्की की थी। सेमीफाइन की जीत के बाद भारतीय क्रिकेट फैंस की उम्मीद बढ़ती ही जा रही है। अब भारत अपनी बेटियों को विश्वकप जीतते देखना चाहता है।

मुख्य बातें-

  1. महिला क्रिकेट विश्वकप का फाइनल मुकाबला आज
  2. क्या BCCI में होता है लिंगभेद?
  3. महिला खिलाड़ियों का क्यों किया जा रहा है अपमान
  4. पुरूष खिलारियों की तुलना में क्यों कम मिलते हैं पैसे?
  5. इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड से इस तुलना में पीछे है भारतीय क्रिकेट बोर्ड 

इन सब के इतर हमारे पुरूष प्रधान समाज की एक ऐसी कड़वी हकीकत है जिसे आप सब को जानना चाहिए। कई ऐसे सवाल हैं जिन्हें आज उठाना जरूरी है। सवाल इस पुरुष प्रधान देश, पुरष प्रधान सरकार और पुरुष प्रधान बीसीसीआई से है देश की तकरीबन आधी आबादी यानि महिलाओं के साथ इतना भेदभाव क्यों? जिस देश में कानूनन पुरुषों और महिलाओं को बराबरी का हक मिला हो उस देश का एक खेल संस्थान पुरुषों और महिलाओं के बीच में एक बहुत बड़ा अंतर क्यों रखता है?

परुष “A” ग्रेड बनाम महिला “A” ग्रेड

BCCI भारतीय खिलाड़ियों को फीस देने के लिए बतौर ग्रेड जारी करता है। स्कूलों के तर्ज पर बनाये इस ग्रेड सिस्टम में जिसके ज्यादा अच्छा ग्रेड उनको उतनी बड़ी रकम मिलेगी। हाल ही में क्रिकेट के भारतीय “पुरुष” टीमों की फीस में बढ़ोतरी हुई है जिसके तहत अब ग्रेड “A” के खिलाड़ियों को सालाना 2 करोड़ रुपये मिलेगा। वहीं ग्रेड “B”  के खिलाड़ियों को 1 करोड़ और ग्रेड “C” के खिलाड़ियों को 50 लाख रुपये मिलेंगे। इसके अलवा पुरुषों को प्रति मैच खेलने की फीस भी अलग से मिलती है।

Image result for indian cricket team
(Pc- zee news)

पुरूष खिलाड़ियों को एक टेस्ट मैच की फीस 15 लाख रूपए, एक वनडे मैच की फीस छह लाख रुपए और टी-20 मैच खेलने के पर 3 लाख रूपये फीस दी जाती है।


(Pc- indian Express)

अब बात करते हैं भारतीय महिला क्रिकेट टीम की। महिला खिलाड़ियों को मिलने वाली रकम जानकर आप हैरान रह जाएंगे। पुरूष खिलाड़ियों की तरह महिला खिलाड़ियों को भी दो ग्रेड में बांटा गया है। ग्रेड “A” में भारतीय कप्तान मिताली राज, झूलन गोसवामी, हरमनप्रीत कौर जैसे खिलाड़ी शामिल हैं। इन खिलाड़ियों को सालाना मात्र 15 लाख रुपये मिलते हैं। मतलब पुरूष खिलाड़ियों की तुलना में एक करोड़ पच्चासी लाख यानि लगभग 13 गुणा कम पैसे मिलते हैं।

वहीं ग्रेड “B” की खिलाड़ियों को महज 10 लाख रुपये मिलते है। जो पुरुष खिलाड़ियों के एक मैच फीस से भी कम है। अगर सीधी तुलना की जाए तो महिला खिलाड़ी साल भर मेहनत करके मैच जीत कर जितना कमाती हैं, उससे ज्यादा पुरूष खिलाड़ी एक मैच खेलकर कमा लेते हैं।


(फीस बढ़ोतरी से पहले का आकड़ा)


(फीस बढ़ोतरी के बाद के आकड़े)

क्या हमारी महिला क्रिकेट खिलाड़ियों में पुरूष खिलाड़ियो के तुलना में कम देशभक्ति है? क्या वो अपने देश को जिताने के लिए खुद को नहीं झोंकती? आखिर वो कौन सी वजह है जिसके लिए महिला क्रिकेट खिलाड़ियों के साथ इतना बड़ा भेदभाव किया जा रहा है? विश्व का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई में इतनी ओछे नियम का पालन क्यों होता है? ये लिंगभेद नहीं तो और क्या है? ये देश में पुरूषों की प्रधानता का घिनौना उदाहरण नहीं तो और क्या है?

Image result for indian women cricket team

दुनिया के सबसे रईस क्रिकेट बोर्ड की शर्मनाक दास्ता आकड़ों में जानिए…

BCCI फिलहाल दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड है, पैसों के मामले में विश्व का कोई क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई का मुकाबला नहीं कर सकता। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, BCCI के बैंकों में 7,847 करोड़ रुपये जमा है और अगले पांच साल में ICC से भी तक़रीबन 2600 करोड़ रूपये मिलने वाले हैं।

Image result for indian cricket team logo
(Pc-Rediffmail)

इंग्लैंड को क्रिकेट का जनक कहा जाता है लेकिन पैसों के मामले में इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड भारतीय क्रिकेट बोर्ड के सामने कुछ नहीं है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड की तुलना में आर्थिक रूप से कमजोर इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड अपनी महिला टीम को को सालाना 40 लाख रुपए देता है, इतनी ही नहीं हर मैच का अलग फीस से भारी रकम भी दी जाती है। वहीं ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड अपनी महिला टीम को सालाना 37 लाख रूपये देता जो भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दोगुना से भी ज्यादा है।

वर्तमान परिवेश की बात करें तो जहां एक तरफ पुरूष टीम के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री अपने गुरूर से बीसीसीआई को दबाए हुए हैं, वहीं दूसरी तरफ महिला क्रिकेट टीम की खिलाड़ी अपने देश को विश्वकप का ताज दिलाने के लिए पूरे जज्बे से लड़ रही हैं।


Data source- BCCI 

Input- khabarinfo

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved