ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

घटना के दो दिन बाद गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी, बोले- मुझसे संवेदनशील कोई नहीं

गोरखपुर। गोरखपुर के बीआरडी सरकारी हॉस्पिटल में पांच दिनों के भीतर 68 से अधिक बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई। यह सिलसिला आज भी जारी है। तेज दिमागी बुखार से आज भी एक चार साल के बच्चे की मौत हो गई। इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज गोरखपुर पहुंच गए हैं। उनके साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा अस्पताल पहुंचे हैं।

खास बातें-

  1. घटना के दो दिन बाद गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी
  2. सीएम योगी के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री भी पहुंचे
  3. सीएम योगी ने कहा मुझसे ज्यादा संवेदनशील कोई नहीं

इस दौरान मीडिया द्वारा सवाल करने पर सीएम कहा कि मुझसे अधिक संवेदनशील कोई नहीं है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी भी इस घटना से चिंतित हैं और उन्होंने हरसंभव मदद का भरोसा दिया है। उन्होंने बताया कि पीएम ने ही मेरे साथ स्वास्थ्य मंत्री को गोरखपुर भेजा है। उन्होंने कहा कि मैं मुख्यमंत्री बनने के बाद अब तक 4 बार BRD अस्पताल आ चुका हूं।

पढ़ें- इधर गोरखपुर में 60 बच्चे मार दिए गए, उधर मंत्री महोदया के साथ खिलखिला रहे सीएम साहब

योगी आदित्यनाथ ने आगे बताया कि मैं 9 अगस्त को भी BRD अस्पताल आया था। मैं 1996-97 से इंसेफेलाइटिस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा हूं। उन बच्चों के लिए मुझसे ज्यादा संवेदनशील कोई नहीं हो सकता। मैं इंसेफेलाइटिस के खिलाफ सड़क से संसद तक लड़ा। योगी ने कहा कि चीफ सेकेट्री की अध्यक्षता में जांच हो रही है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। जांच रिपोर्ट के बाद कार्रवाई होगी।

पढ़ें- भाजपा सांसद साक्षी महाराज बोले- यह मौत नहीं नरसंहार है

http://www.youtube.com/watch?v=1H5-F-I7ak0

गौरतलब है कि घटना के बाद सीएम ने कहा था कि बच्चों की मौत ऑक्सीजन की वजह से नहीं बल्कि गंदगी और बीमारियों की वजह से हुई है। मुख्यमंत्री ने ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ता को भुगतान में विलंब के लिए कॉलेज के प्रिसिंपल को दोषी ठहराते हुए कहा कि 9 अगस्त को गोरखपुर प्रवास के दौरान उन्होंने इंसेफेलाइटिस, डेंगू, चिकुनगुनिया, स्वाइन फ्लू और कालाजार जैसे मुददों पर अधिकारियों से बातचीत की थी और उनसे पूछा था कि उनकी आवश्यकता क्या है और क्या उन्हें किसी तरह की कोई समस्या है लेकिन आक्सीजन आपूर्ति से जुड़ा मुद्दा उनके संज्ञान में नहीं लाया गया।

पढ़ें- गोरखपुर: 60 बच्चों की मौत पर वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल ने लिखी मार्मिक दास्तान्

उन्होंने कहा, बैठक में मेडिकल कॉलेज के प्रिसिंपल भी मौजूद थे। मैंने पूछा कि कोई मुद्दा हो या समस्या हो तो बताएं, लेकिन वहां ऑक्सीजन को लेकर कोई जिक्र नहीं किया गया। हम लोगों की जानकारी में नहीं लाया गया। इससे पहले यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ ने कहा था कि अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं। इसमें कोई नई बात नहीं है।

http://www.youtube.com/watch?v=qsz5i7Ytz4c

आपको बता दें कि पिछले 20 सालों से योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से सांसद हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बच्चों के मौत की घटना ऑक्सीजन सप्लाई ठप होने की वजह से हुई थी। अस्पताल पर 68 लाख रुपये की बकायेदारी होने के बाद ठेकेदार ने सप्लाई देने से हाथ खड़े कर दिए थे। इस वजह से अस्पताल की ऑक्सीजन सप्लाई बाधित हो गई थी। इस मुद्दे पर अभी तक पीएम मोदी का कोई बयान नहीं आया है, न ही घटना को लेकर उन्होंने कोई ट्वीट किया है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved