ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

100 दिन की उपलब्धियां गिनाने आए योगी, पत्रकार का सवाल सुनते ही भाग लिए..

लखनऊ। 100 दिन पूरे होने पर सीएम योगी ने बीते दिन प्रेस कॉन्फेंस कर अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। इस रिपोर्ट कार्ड के जरिए योगी ने सरकार की उपलब्धियां गिनवाईं और आगे के लिए रोडमैप भी बताया। इस दौरान योगी ने ‘100 दिन विश्वास के’ नाम की एक बुकलेट भी जारी किया।

योगी सरकार की ओर से बुलाई गई इस प्रेस कॉन्फेंस में सबसे दिलचस्प बात देखने को जो मिली वो यह कि योगी भी पीएम मोदी के नक्शे-कदम पर चलते दिखे। दरअसल मीडिया योगी से कई सवालों का जवाब चाहती थी। वो ऐसे सवाल थे जो हर पत्रकार इस सौ दिनों के दौरान योगी सरकार से पूछने के लिए बेताब था। सीएम योगी आए.. लाइट कैमरा ऑन हुआ.. योगी ने बोलना शुरू किया.. अपनी सरकार की 100 दिनों की उपलब्धियां गिनवाईं.. और आखिर में धन्यवाद बोल कर निकल लिए।

पढ़ें- मोदी सरकार की तीन साल की उपलब्धि: 97% बढ़ गई गाय के नाम पर मारने की दर

प्रेस कान्फ्रेंस के बाद सवाल-जवाब का इंतजार कर रही मीडिया हाथ पे हाथ ढरे बैठी रह गई। लाजमी है, पत्रकारों के मन में ऐसे कई सवाल चल रहे होंगे जिसे पूछने के लिए वो इसी इंतजार में बैठे थे कि कब कान्फ्रेंस खत्म हो और वो सवाल पूछें। क्योंकि सवाल करना न सिर्फ पत्रकार का पेशा है बल्कि सवाल करना एक पत्रकार का लोकतांत्रिक अधिकार है।

कानून व्यवस्था, एंटी रोमियो दल, अवैध बूचड़खाने, सहारनपुर जातीय हिंसा, सहारनपुर दंगा, गड्ढा मुक्त सड़कें जैसे सवाल पत्रकारों के जेहन में कौंद रहे होंगे। इस दौरान योगी से एक सवाल हुआ भी जो मीडिया से मंझोले और छोटे अखबारों को बंद किए जाने से जुड़ा था। जिसका गोलमोल जवाब देते हुए योगी अपनी कुर्सी से खड़े हो गए।

पढ़ें- मॉब लिंचिंग के खिलाफ शबनम हाशमी ने लौटाया अवॉर्ड

पत्रकार जब तक कुछ समझ पाते तब तक योगी मंच छोड़कर निकल लिए। बहरहाल योगी भी मोदी की ही तरह हमेशा मीडिया से केवल अपनी बात ही करते हैं। आमतौर पर सीएम योगी और पीएम मोदी दोनों ही मीडिया का कोई सवाल नहीं लेते।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved