ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

इलाहाबाद: योगी राज में गुंडे बेलगाम, दलित छात्र को बेरहमी से मार डाला

इलाहबाद. उत्तर प्रदेश की बदहाल कानून व्यवस्था के कारण सूबे में अपराधियों के हौंसले सातवें आसमान पर हैं,जिसके कारण पूरे प्रदेश में अपराधियों का राज व्याप्त है. योगी सरकार में दलितों और पिछड़ों के ऊपर अत्याचार बढ़ गया है. ऐसी ही घटना उपमुख्यमंत्री केशव मौर्या और स्वास्थय मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के गृह क्षेत्र इलाहाबाद के कर्नलगंज थाना क्षेत्र में लक्ष्मी टॉकीज चौराहे के पास स्थित कलिका रेस्टोरेंट में कुछ लोगों ने LLB में पढ़ने वाले एक दलित छात्र को बुरी तरह पीटा. सरेआम उसके सिर पर ईंट और शरीर पर डंडे से एक के बाद एक कई वार किए. बेतहाशा पिटाई से छात्र मरणासन्न हो गया. उसे गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया . हमलावर कौन थे, इसका पता नहीं चल पाया है. पुलिस रेस्टोरेंट में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के जरिए उनकी तलाश में जुटी है. देर रात भाई की तहरीर पर पुलिस ने तीन अज्ञात हमलावरों पर रिपोर्ट दर्ज कर ली है.

दलित छात्र का पैर गलती से गुंडे से छूना पड़ा जान पर भारी
मृतक छात्र दिलीप कुमार सरोज पुत्र रामलाल सरोज मूलताः प्रतापगढ़ के कुंडा का रहने वाला था और शहर में ओमगायत्री नगर में रहकर वकालत की पढ़ाई कर रहा था. वह इलाहाबाद डिग्री कॉलेज (एडीसी) में एलएलबी द्वितीय वर्ष का छात्र था. दिलीप के भाई महेश सरोज रायबरेली स्थित जिला उद्योग केंद्र में जिला सांख्यिकीय अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं. मौजूद समय में वह माता-पिता को लेकर वहीं रहते हैं. महेश ने बताया कि दिलीप के किसी दोस्त ने नया वाहन खरीदा था. इसी की पार्टी करने शुक्रवार को वह अपने दो दोस्तों समीर, प्रकाश को लेकर रात में लक्ष्मी टॉकीज के पास स्थित कालिका रेस्टोरेंट पहुंचा था. प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो रात में करीब साढ़े नौ बजे दिलीप और उसके दो दोस्त रेस्टोरेंट में बैठे थे. वहां फॉर्च्यूनर कार से आए तीन लोग पहले से बैठकर खाना खा रहे थे.

सूत्रों के अनुसार रेस्टोरेंट में खाना खाने के दौरान जब दिलीप सरोज हाथ धुलने के लिए उठा तो उसका पैर बगल की ही टेबल में बैठे गुंडों से टकरा गया, जिसके लिए उसने मांफी भी मांगी किन्तु सत्ता और शराब के नशे में धुत्त इन गुंडों ने दलित छात्र दिलीप कुमार को मांफ करने की जगह उसे पीटना शुरू कर दिया. खाना खाने के दौरान ही दोनों पक्षों में इसी बात को लेकर विवाद हो गया. इसके बाद वहां मारपीट होने लगी. तभी दूसरे पक्ष के लोगों ने फोन कर अपने पांच-छह साथियों को वहां बुला लिया और सभी ने दिलीप को पकड़कर पीटना शुरू कर दिया. दहशत में आए दिलीप के दोस्त वहां से भाग निकले. जबरदस्त पिटाई से दिलीप बेसुध होकर वहीं गिर पड़ा. हालांकि हमलावर यहीं नहीं रुके. वह जमीन पर पड़े दिलीप को रेस्टोरेंट के बाहर घसीट ले गए.

पुलिस के अनुसार होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में उनकी पूरी करतूत कैद हो गई. फुटेज में साफ दिख रहा है कि रेस्टोरेंट के बाहर भी बेसुध पड़े दिलीप पर पहले डंडे और फिर ईंट से हमला किया. एक हमलावर ने पहले उसके पैरों और फिर दूसरे हमलावर ने ईंट से उसके सिर पर वार किया. दहशत के चलते आसपास मौजूद लोग भी बीचबचाव करने की हिम्मत नहीं जुटा सके. दिलीप के मरणासन्न हो जाने के बाद हमलावर भागे. पुलिस का कहना है कि इसके बाद रेस्टोरेंट मालिक अमित उपाध्याय दिलीप को गंभीर अवस्था में लेकर एसआरएन अस्पताल पहुंचे, जहां उसे भर्ती कर लिया गया. गौरतलब है कि इलाज के दौरान दिलीप की मौत हो गयी.

इस घटना का पता चलने पर दिलीप के भाई महेश सुबह एसआरएन अस्पताल पहुंचे, तब दिलीप की हालत गंभीर बनी हुई थी. इसे देखते हुए दोपहर में करीब दो बजे उसके परिजन और रिश्तेदार उसे लेकर सिविल लाइंस स्थित शकुंतला अस्पताल पहुंचे. पुलिस के मुताबिक डॉक्टरों ने पहले दिलीप के कोमा में चले जाने की बात बताई कही और कुछ ही देर बाद उन्होंने उसे मृत घोषित कर दिया. मामले में इंस्पेक्टर अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि रेस्टोरेंट में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में हमलावरों की तस्वीर कैद है. इसके जरिए उनकी तलाश की जा रही है. छात्र के भाई की तहरीर पर तीन अज्ञात हमलावरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है.

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved