ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

इस खबर पर कितना दुखी होंगे मोदीजी! आधार की वजह से भूख से तड़प-तड़पकर मरी बच्ची

रांची। कुछ दिन पहले इंटरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईएफपीआरआई) की रिपोर्ट में कहा गया था कि 119 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक में भारत 100वें पायदान पर पहुंच गया है। यहां तक की भारत उत्तर कोरिया और बांग्लादेश जैसे देशों से पीछे है। ऐसी ही एक शर्मनाक करने वाली खबर झारखंड से आ रही है। जहां कुछ दिनों से भूखी 11 साल की एक बच्ची की मौत हो गई।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, झारखंड के सिमडेगा में कुछ दिनों से भूखी 11 साल की एक बच्ची की मौत हो गई। स्थानीय राशन डीलर ने महीनों पहले उसके परिवार का राशन कार्ड रद्द करते हुए अनाज देने से इनकार कर दिया था। राशन डीलर की दलील थी कि राशन कार्ड आधार नंबर से लिंक नहीं है, इसलिए अनाज नहीं मिल सकता।

बच्ची की मां कोयला देवी ने बताया कि परिवार ने 4-5 दिनों से कुछ नहीं खाया था। जब उनसे पूछा गया कि क्या आपकी बच्ची स्कूल जाती है, क्या वहां उसे खाना नहीं मिला तो कोयला देवी ने बताया कि उसे स्कूल में खाना मिलता है लेकिन दुर्गा पूजा की छुट्टियों की वजह से स्कूल से खाना भी नहीं मिल पाया।

कोयला देवी ने बताया कि वह वार्ड के पार्षद और मुखिया सहित कई लोगों से मदद मांगने गई किसी ने मदद नहीं की। वह कई दिनों तक जंगलों में उगे पेचकी साग, गेठी, भाजी साग और करैला आदि खाकर रह रहे थे।

जहां एक ओर हम डिजिटल इंडिया की बात करते हैं वहीं दूसरी ओर भूख से दम तोड़ती एक बच्ची की व्यथा झकझोर देती है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved