ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

निर्भया की मां ने कहा- शुक्रिया राहुल गांधी, आपके कारण मेरा बेटा पायलट बना

nirbhaya-mother

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 की रात को दरिंदगी की सभी हदें पार करने वाली खबर सामने आयी थी। जिसने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। देश में सड़क से लेकर संसद तक हंगामा मच गया था, मगर अब इस परिवार से जुड़ी एक अच्छी खबर सामने आ रही है। जल्द ही निर्मला का भाई अमन (परिवर्तित नाम) आसमान की उड़ान भरता दिखाई देगा।

निर्भया का भाई पायलट बना है। लेकिन उसे यहां तक पहुंचाने में सबसे बड़ा हाथ राहुल गांधी का है। इसके लिए निर्भया की मां ने राहुल गांधी का धन्यवाद किया है।

निर्भया की मां आशा देवी ने अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए लंबी लड़ाई लड़ी। इस घिनौनी हरकत के बाद पूरा देश सड़कों पर आ गया था। इस गैंगरेप ने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी तरफ खींचा था। इस मामले में सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया और फिर इनपर गैंगरेप और हत्या का मामला चलाया गया।

इसमें से एक की मौत तो पुलिस कस्टडी में ही हो गई। वहीं चार बालिग आरोपियों पर केस चला और इन्हें गैंगरेप और हत्या का दोषी पाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है। वहीं एक नाबालिग, जिसने लड़की के साथ सबसे ज्यादा हैवानियत की थी, उसे तीन साल के लिए सुधार गृह में भेज दिया गया।

https://www.youtube.com/watch?v=zaG9MiHxhQ4

इस हादसे के बाद पूरा परिवार टूट गया था। खासतौर पर अपनी बहन निर्भया को खोने के बाद अमन ( परिवर्तित नाम) दुखी था। मगर इसके बाद भी परिवार ने हिम्मत नहीं छो़ड़ी और अमन(परिवर्तित नाम) ने प्रोफेशनल फ्लाइंग का कोर्स पूरा किया। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी परिवार के साथ खड़े रहे।

अमन ( परिवर्तित नाम) की पढ़ाई का सारा खर्चा उठाने के साथ ही राहुल गांधी हमेशा सुनील को फोन करके उसका हौसला बढ़ाते थे। इसी हौसलाअफजाई के बूते अमन ( परिवर्तित नाम) ने इस सपने को साकार किया।

जब निर्भया के साथ ये हादसा हुआ था, उस वक्त भाई सुनील 12वीं क्लास में पढ़ रहा था और सेना में जाना चाहता था। मगर इस हैवानियत भरी करतूत ने उसे अंदर से पूरी तरह तोड़ दिया।

निर्भया की मां आशा देवी ने बताया कि इस दुख की घड़ी में राहुल गांधी आगे आए और उन्होंने सुनील को सांत्वना दी और परिवार को अच्छी जिंदगी देने के लिए कुछ बेहतर करने की प्रेरणा दी। जब राहुल गांधी को सुनील के सेना में जाने की इच्छा पता चली तो उन्होंने उसे पायलट ट्रेनिंग कोर्स ज्वाइन करने की नसीहत दी।

मां आशा देवी की मानें तो साल 2013 में बोर्ड एग्जाम पास होने के बाद अमन( परिवर्तित नाम) ने राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान एकेडमी में दाखिला लिया और पायलट बनने की शुरुआत हुई। हालांकि इस दौरान भी सुनील के मन में सेना में भर्ती होने का ख्वाब पल रहा था। मगर वक्त नहीं मिलने की वजह से वो तैयारी नहीं कर पाया।

https://www.youtube.com/watch?v=V9Eqx1tmEx4

18 महीने के पायलट ट्रेनिंग कोर्स के दौरान अमन ( परिवर्तित नाम) की नजर निर्भया गैंगरेप केस के ट्रायल पर भी रही। इसी दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी उनसे अक्सर फोन पर बात करते और जिंदगी में कभी न हार मानने वाले जज्बे को अपनाने की नसीहत देते रहते।

मां आशा देवी ने बताया कि राहुल गांधी ने ट्रेनिंग खत्म होने के बाद भी अमन का साथ दिया और ट्रेनिंग के बारे में भी जानकारी ली। इस वक्त अमन गुरुग्राम में एक कमर्शियल एयरलाइंस के साथ फ्लाइंग की फायनल ट्रेनिंग ले रहे हैं। जल्द ही वो एयरक्राफ्ट उड़ाते नजर आएंगे।

मां आशा देवी ने बताया कि केवल राहुल गांधी ही नहीं कई बार प्रियंका गांधी ने भी फोन करके अमन और परिवार का हालचाल जाना।

निर्भया का सबसे छोटा भाई इस वक्त पुणे में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है। वहीं उसके पिता दिल्ली एयरपोर्ट के टर्मिनल टी-3 पर तैनात हैं।

 

 

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved