ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

नितिन गडकरी बोले- नौकरी ही नहीं हैं तो आरक्षण का क्या फायदा

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को देश में रोजगार और आरक्षण के मामले पर एक बड़ा बयान दिया है जिसमें उन्होंने कहा, आरक्षण रोजगार देने की गारंटी नहीं है क्योंकि देश में नौकरियां कम हो रही हैं. इसके अलावा महाराष्ट्र में आरक्षण को लेकर चल रहे मराठा आंदोलन पर बोलते हुए उन्होंने कहा कहा, केवल आरक्षण मिलने से क्या होगा? आरक्षण रोजगार देने की गारंटी नहीं है क्योंकि देश में नौकरियां कम हो रही हैं.

उन्होंने आरक्षण को एक सोच बताते हुए कहा, आरक्षण तो एक सोच है जो यह चाहती है कि नीति निर्माता हर समुदाय के गरीबों पर विचार कर सके. गडकरी ने कहा. मान लिजिए आरक्षण दे दिया जाता है लेकिन उसका क्या फायदा जब नौकरियां नहीं है. क्योंकि बैंक में आईटी के कारण नौकरियां कम होती जा रही हैं. सरकारी भर्तियां रुकी हुई हैं ऐसे में नौकरियां कहा हैं?

शनिवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, आरक्षण के साथ समस्या यह है कि पिछड़ापन राजनीतिक हित बन रहा है. हर कोई कहता है कि मैं पिछड़ा हूं. बिहार और उत्तर प्रदेश में, ब्राह्मण मजबूत हैं. वे राजनीति पर हावी हैं. और वे कहते हैं कि वे पिछड़े. उन्होने कहा, एक सोच कहती है कि गरीब गरीब होता है उसकी कोई भी जाति धर्म या भाषा नहीं होती.

उसका कोई भी धर्म हो चाहे हिंदू, मुस्लिम या फिर मराठा इन सभी समुदायों में से वर्ग ऐसा है जिसके पास पहनने के लिए कपड़े नहीं है, न खाने के लिए भोजन है. इसलिए हमें ऐसी स्थिति में हर समुदाय हर धर्म के अति गरीब वर्ग पर विचार करना चाहिए. उन्होंने कहा, आरक्षण जाति के आधार पर नहीं बल्कि गरीबी के आधार पर मिले तो अच्छा होगा क्योंकि यह बात सच है कि गरीब की न कोई जाति होती है न भाषा और न कोई क्षेत्र होता है.

इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने मराठा आरक्षण की मांग पर कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बातचीत करके मराठा आरक्षण की मांग को हल करने की कोशिश कर रहे हैं. इसके अलावा उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील भी की है. उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों को इस मामले में आग में घी डालने से बचना होगा.

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved