ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

घर के बाहर पेशाब करने से रोका तो दिनदहाड़े घर में घुसकर कर दी युवक की हत्या

नई दिल्ली। दिल्ली से हैरान करने वाली खबर सामने आ रही है। यहां एक शख्स की सिर्फ इसलिए हत्या कर दी गई क्योंकि उसने अपने घर के सामने सड़क के किनारे पेशाब करने से एक शख्स को रोक दिया था। मृतक की पहचान संदीप के रुप में हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मामले में डीसीपी (नॉर्थ-ईस्ट) एके सिंगला ने बताया, ‘शव पूर्वी दिल्ली के हर्ष विहार इलाके की मार्केट से गुरुवार (19 अक्टूबर) को बरामद किया गया। हत्या के शक में तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है। तीनों मजदूर हैं जिनमें दो संदीप के ही पड़ोस में रहते हैं। हालांकि पेशाब करने वाला शख्स अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बुधवार को संदीप अपने घर के बाहर बैठा हुआ था, तभी चार युवक उसके घर के सामने से गुजरे। इनमें से एक शख्स संदीप के घर के सामने ही पेशाब करने लगा। संदीप के मना करने पर चारों युवक उससे लड़ने लगे। इस दौरान संदीप के साथ बुरी तरह मारपीट की गई, उसके कपड़े भी फाड़ दिए। इस दौरान संदीप ने हाथ उठा दिया और चारों को वहां से जाने के लिए कहा। पुलिस के अनुसार आरोपियों में दो संदीप के पड़ोस में ही रहते हैं। जिन्होंने संदीप से मारपीट का बदला लेने का फैसला लिया। दिवाली की रात संदीप जब पटाखे जला रहा था तब किसी अंजान जगह ले जाकर उसकी हत्या कर दी।

आरोपियों ने संदीप के चेहरे को पत्थर से कुचलने की भी कोशिश की। संदीप के शव के पास खून से सने पत्थर और एक टॉयलेट सीट बरामद हुई है।’पुलिस के मुताबिक, शव दिवाली की रात हर्ष विहार के शुक्रवार बाजार से रात (11:30 बजे) में बरामद किया गया। संदीप के चेहरे पर इतने निशान थे कि शव की पहचान करना भी काफी मुश्किल था। घटनास्थल पर संदीप के भाई को बुलाया गया जिसके बाद शव की पहचान की।

जांच पड़ताल में पुलिस को पहली कामयाबी तब मिली जब संदीप के चचेरे भाई ने उसे कुछ लोगों के साथ मार्केट की तरफ जाते देखा। इसके बाद घटनास्थल के आसपास की सीसीटीवी फुटेज खंगाली गईं जहां पुलिस ने संदिग्धों की पहचान की। पकड़े गए आरोपियों के नाम राजा, सेबू, मुकीम हैं। सभी उम्र बीस साल के आसपास है। मुख्य संदिग्ध की पहचान चांद के रूप में की गई है, जो अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved