fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

पटाखों से दिल्ली की हवा हुई और प्रदूषित, सुप्रीम कोर्ट के आदेश की लोगो ने उड़ाई धज्जियां

smog-pollution

दिल्ली में रात सुप्रीम कोर्ट के आदेश की लोगो ने धज्जिया सी उड़ा दी, सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में बढ़ते प्रदुषण की समस्या को देखते हुए पटाखे जलाने की सीमा तय करी थी। उच्चतम न्यायालय ने दिवाली और अन्य त्योहारों के मौके पर रात 8 से 10 बजे के बीच ही फटाखे फोड़ने की अनुमति दी थी।

Advertisement

delhi-pollution

न्यायालय ने सिर्फ ‘हरित पटाखों’ के निर्माण और बिक्री की अनुमति दी थी। हरित पटाखों से कम प्रकाश और ध्वनि निकलती है और इसमें कम हानिकारक रसायन होते हैं। फिर भी दिल्ली के कई इलाकों में गैरकानूनी रूप से पटाखों की बिक्री हुई।

दिल्ली की हवा की गुणवत्ता बुधवार की रात ‘बेहद खराब’ की श्रेणी की तरफ बढ़ गई। दिल्लीवासियों के लिए सुबह फिर घनी धुंध के बीच हुई। अक्षरधाम मंदिर और साउथ ब्लॉक में सुबह ही स्मॉग का असर दिखा। हवा में प्रदूषण की दुर्गन्ध को साफ़ मह्सूस किया जा सकता है। सांस लेने में लोगो को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

लोगों ने बुधवार को जमकर पटाखे फोड़े। दिल्ली में बुधवार रात 10 बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 296 दर्ज किया गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार शाम सात बजे एक्यूआई 281 था। वही यह लेवल रात 8 बजे यह बढ़कर 291 और रात 9 बजे यह 294 हो गया। केंद्र द्वारा संचालित सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने समग्र एक्यूआई 319 दर्ज किया जो ‘बेहद खराब’ की श्रेणी में आता है।

Smog-1

दिल्ली और अन्य इलाको में बढ़ते प्रदुषण पर नियंत्रण रखने के लिए ही सुप्रीम कोर्ट ने सिर्फ ‘हरित पटाखों’ के निर्माण और बिक्री की अनुमति दी थी और दिवाली और अन्य त्योहारों के मौके पर रात 8 से 10 बजे के बीच ही फटाखे फोड़ने की अनुमति दी थी। पर लोगो ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश को अनसुना सा कर दिया और इसका खामियाज़ भुगतना पड़ेगा।

दिल्ली में कई इलाको में हानिकारक पटाखों की बिक्री रोकने के लिए कोर्ट ने पुलिस को यह आदेश दिया था की पुलिस की यह ज़िम्मेदारी होगी कि प्रतिबंधित पटाखों की बिक्री नहीं हो और किसी भी उल्लंघन की स्थिति में संबंधित थाना के एसएचओ को व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार ठहराया जाएगा और यह अदालत की अवमानना होगी। लेकिन कोर्ट के आदेश के बावजूद राष्ट्रीय राजधानी के कई इलाकों से उल्लंघन किए जाने की खबरें मिली हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved