ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

जो ‘वंदे मातरम’ नहीं बोलेगा उसे भारत में रहने का अधिकार नहीं- साक्षी महाराज

नई दिल्ली। हाल ही में मद्रास हाईकोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा है था कि तमिलनाडु के स्कूलों, कॉलेजों समेत अन्य सरकारी संस्थानों में राष्ट्रीय गीत‘वंदे मातरम’का सामूहिक गायन अनिवार्य होगा। हाईकोर्ट को इस बात को महाराष्ट्र के बीजेपी नेता राज पुरोहित ने दिल पर ले किया है उन्होंने मुख्यमंत्री देवेंद्र देवेन्द्र फडणवीस को पत्र लिखकर मांग की है कि मद्रास हाईकोर्ट के फैसले को महाराष्ट्र में भी लागू किया जाए।

मुख्य बातें-

  1. महाराष्ट्र बीजेपी विधायक राज्य में अनिवार्य कराना चाहते हैं ‘वंदे मातरम’
  2. AIMIM के नेता वारिस पठान और  राज पुरोहित के बीच हुई बहस
  3. साक्षी महाराज ने दिया विवादित बयान
  4. साक्षी महाराज ने कहा- देश में पल रहे हैं आस्तीन के सांप

दरअसल महाराष्ट्र विधानसभा में आज कल ‘वंदे मातरम’ को लेकर माहौल गर्म है। हाल ही में विधानसभा के बाहर AIMIM के नेता वारिस पठान और बीजेपी विधायक राज पुरोहित के बीच ‘वंदे मातरम’ को लेकर जमकर बहस हुई। AIMIM के नेता वारिस पठान विरोध जताते हुए जमीन पर बैठ गए और कहने लगे कि भारत हमारा देश है और हम किसी के दबाव में वन्दे मातरम नहीं बोलेंगे। वरिस पठान को ये बात इसलिए कहनी पड़ी क्योंकि एक दिन पहले ही विधानसभा में राज पुरोहित ने कहा था कि अगर देश में रहना है तो वन्दे मातरम कहना होगा।

पढ़ेंः हाईकोर्ट का आदेश सप्ताह में एक दिन ‘वंदे मातरम’ का सामूहिक गायन अनिवार्य 

पत्रिका में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, अब ‘वंदे मातरम’ वाले इस मुद्दे में बीजेपी के भगवा नेता साक्षी महाराज ने एंट्री ली है। साक्षी महाराज अपने काम से ज्यादा विवादित बयानों की वजह से चर्चा में रहते हैं, अपने इसी अंदाज को आगे बढ़ाते हुए साक्षी महाराज ने कहा देश में आदमी को इतनी स्वतंत्रता नहीं दी जा सकती कि कोई व्यक्ति देश के साथ गद्दारी कर सके, अगर कोई व्यक्ति आम है। आम जीवन जी रहा है, केवल इस्लाम धर्म का अनुयाई है। किसी संवैधानिक पद पर नहीं है अगर इस प्रकार की अनर्गल बातें वह करता है तो एक बार को क्षमा हो सकती है, परंतु जो व्यक्ति संवैधानिक पद पर है, तब ऐसी बातें करता है, तो उसे देश में रहने का अधिकार नहीं है।

साक्षी महाराज ने बीजेपी का एजेंडा बताते हुए कहा कि सरकार राष्ट्रविरोधी ताकत के प्रति बहुत गंभीर है। जो अलगाववादी ताकते है उनपर सिर्फ प्रतिबंध ही नहीं लगना चाहिए बल्कि ऐसे लोगों को पकड़ कर जेल भेज देना चाहिए। देश में कुछ आस्तीन के सांप पल रहे हैं, अगर कोई देशद्रोह करता है तो उस पर देशद्रोह का मुकदमा लगेगा ही।

साक्षी महाराज ने आगे कहा कि कश्मीर में प्रधानमंत्री मोदी आस्तीन के सांपों का इलाज कर रहे हैं जो लोग देश भी नहीं छोड़ंगे और ‘वंदे मातरम’भी नहीं बोलेंगे, वो राष्ट्र के साथ द्रोह करते रहेंगे। हिंदुस्तान का खाएंगे गीत पाकिस्तान के गाएंगे ऐसे लोगों का आखिर इलाज तो करना ही पड़ेगा।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved