ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

बीजेपी नेता की लंगोट ज्यादा ढीली है तो विनोद वर्मा का क्या कसूर- दिलीप मंडल

dilip-c-mandal

नई दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा की गिरफ्तारी ने मीडिया जगत के लिए नई बहस शुरु करवा दी है। सुबह साढ़े तीन बजे उन्हें गाजियाबाद से गिरफ्तार किया गया। छत्तीसगढ़ पुलिस ने उनपर जबरन उगाही और जान से मारने की धमकी के केस दर्ज किए हैं। विनोद वर्मा अमर उजाला और बीबीसी के लिए काम कर चुके हैं।

वहीं पत्रकार विनोद वर्मा ने बताया कि उनके पास छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री का सेक्स वीडियो है जो कि पेन ड्राइव में मिला है। बीजेपी उनसे खुश नहीं है। इसलिए उन्हें फंसाया जा रहा है।

उनकी इस गिरफ्तारी के सोशल मीडिया पर बीजेपी और छत्तीसगढ़ सरकार की खूब आलोचना हो रही है। वहीं वरिष्ठ पत्रकार और इंडिया टुडे (हिंदी) के पूर्व ग्रुप एडिटर दिलीप मंडल ने भी फेसबुक पर सिलसिलेवार कई पोस्ट की हैं।

एक पोस्ट में उन्होने लिखा, ‘छत्तीसगढ़ के किसी भाजपाई नेता की लंगोट ज्यादा ढीली है तो उसे उसके परिवार वाले कंट्रोल करें। अगर जबरर्दस्ती का मामला है तो पुलिस एक्शन ले। अगर पैसा देकर सेक्स खरीदा है, तो समाज थू-थू करे। अगर विवाहेतर संबंध है, तो पत्नी पिछवाड़े पर दस लात लगाए। मुंह पर थूक दे। मूत दे। बच्चे गरदन पर हाथ लगाकर घर से बाहर निकालें। एडल्ट्री है तो केस चलाया जाए। विनोद वर्मा को हिरासत में लेने से क्या होगा?’

दूसरी पोस्ट में पत्रकार दिलीप मंडल ने लिखा- संघियों की समस्या यह है कि वे नॉर्मल नहीं हैं। आम पारिवारिक इंसान की तरह जीना नहीं आता। सेक्स किया नहीं कि उनकी सीडी आउट हो जाती है। और जब सीडी बन जाती है, तो अपने अंदर सुधार करने की जगह किसी विनोद वर्मा को हिरासत में ले लेते हैं। सुधर जाओ संघियों। गृहस्थ बनो। आदमी बनो।

वरिष्ठ पत्रकार मंडल ने एक अन्य पोस्ट में लिखा, बाबाओं की और संघियों की सेक्स सीडी एक राष्ट्रीय समस्या है। बार-बार सामने आ जाती है। तीन महीने भी ये चैन से नहीं रह सकते। किसी न किसी की आ ही जाती है। यह शोध का विषय है कि इनकी सीडी बनाता कौन है? इस राष्ट्रीय समस्या का समाधान यह है कि बाबाओं की और संघियों की पकड़-पकड़ कर शादी करा दी जाए. परिवार में रहेंगे तो इंसान बनने की संभावना ज्यादा होगी। आपकी नजर में कोई और उपाय है क्या?

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved