ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

खुलासा: सोहराबुद्दीन केस में CBI जज को पक्ष में फैसला देने के लिए 100 करोड़ की हुई थी पेशकश

नई दिल्ली। जुलाई 2010 में सीबीआई ने सोहराबुद्दीन शेख की 2005 में कथित रुप से हत्या के सिलसिले में अमित शाह को गिरफ्तार किय था। सितंबर 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने मामले को गुजरात से महाराष्ट्र स्थानांतरित कर दिया और कहा कि यह विश्वास है कि जांच की अखंडता बनाए रखने के लिए इसे राज्य के बाहर करने के लिए आवश्यक है। सीबीआई स्पेशल कोर्ट ने दिसबंर 2014 में मुंबई में शाह को सभी आरोपों से मुक्त कर दिया था। लेकिन अंग्रेजी पत्रिका कारवां में प्रकाशित निरंजन ताकले की रिपोर्ट ने पुरानी परतों को उधेड़ कर रख दिया है। जिसमें उन्होने खुलासा किया है कि पक्ष में फैसला देने के लिए सीबीआई जज को सौ करोड़ और मुंबई में एक घर की पेशकश की गई थी।

https://www.youtube.com/watch?v=V2jbslKtSqU

मुंबई में सीबीआई स्पेशल कोर्ट की अध्यक्षता कर रहे बृजगोपाल हरकिशन लोया का निधन 30 दिसंबर 2014 और 1 दिसंबर 2014 के बीच हुई जब वह नागपुर जा रहे थे।

मौत के समय वह सोहराबुद्दीन केस की सुनवाई कर रहे थे, जिसमें मुख्य अभियुक्त भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह थे। उस समय मीडिया की रिपोर्ट्स में बताया गया कि उनका निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ है। लेकिन नवंबर 2016 और नवंबर 2017 के बीच मेरी इनवेस्टिगेश मृत्यु के आसपास की परिस्थितियों के बारे में परेशान करने वाले सवालों को उठाया जिसमें उनके शव को परिवार वालों को सौंपने वाला सवाल भी शामिल था।

जिन लोगों के साथ मैने (निरंजन ताकले) बात की थी उनमें से एक लोया की बहन अनुराधा बियाणी भी थीं, जो कि महाराष्ट्र के धुले में मेडिकल डॉक्टर थी। बियाणी ने मुझसे विस्फोटक दावा किया। उसने कहा, लोया ने उसे बताया कि बॉम्बे हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश मोहित शाह ने उन्हें पक्ष में फैसले के बदले 100 करोड़ रुपये की रिश्वत की पेशकश की थी।

https://www.youtube.com/watch?v=2sC5RhMVjrk

बियानी ने कहा कि लोया ने मौत के कुछ हफ्ते पहले उन्हें यह बात तब बताई थी जब दीवाली के लिए परिवार पैतृक घर पर इकठ्ठा हुआ था। लोया के पिता हरकिशन ने बताया कि उनके बेटे ने उन्हें बताया था कि पक्ष में फैसला देने के लिए पैसे और मुंबई में एक घर की पेशकश की थी।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved