ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

बड़ा सवाल: आखिर क्यों गिरफ्तार किए गए पत्रकार विनोद वर्मा?

नई दिल्ली। देश में मोदी सरकार बनने के बाद लगातार प्रेस पर हमले किए जा रहे हैं। इसी के तहत वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को यूपी के गाजियाबाद से गिरफ्तार किया गया है। उन पर छत्तीसगढ़ सरकार में एक भाजपाई मंत्री को सेक्स सीडी के बदले पैसे मांगने और धमकी देने का आरोप लगाया गया है।

आपको बता दें कि विनोद वर्मा एक वरिष्ठ पत्रकार हैं, जिन्होंने देशबंधु, बीबीसी और अमर उजाला जैसे संस्थानों में अपनी सेवाएं दी हैं। इस मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। पुलिस ने बताया कि गाजियाबाद में विनोद वर्मा के घर से 500 सीडियां बरामद की गई हैं। पुलिस ने इस सीडी में अश्लील कंटेंट होने की आशंका तो जताई, लेकिन इसमें असल में क्या है, इस बात की जानकारी पुलिस नहीं दे पाई। पुलिस ने कहा है कि वह इस सीडी को अब फोरेंसिक जांच के लिए भेजेगी।

https://www.youtube.com/watch?v=OQv17bySUGE&t=87s

वहीं कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि सीडी छत्तीसगढ़ सरकार के एक रसूखदार मंत्री की है, जिसमें वह एक लड़की के साथ आपत्तिजनक हालात में नजर आ रहे हैं। पुलिस के अनुसार, विनोद वर्मा की गिरफ्तारी जिस शख्स की शिकायत पर हुई है, उसका नाम प्रकाश बजाज है। पुलिस के मुताबिक, शिकायकर्ता ने बताया था कि उसे कुछ वक्त से कॉल करके धमकी दी जा रही थी। धमकी यह कि अगर उनकी शर्तों को नहीं माना गया तो उसके ‘आका’ की सीडी सार्वजनिक कर दी जाएगी।

हालांकि, पुलिस ने यह नहीं बताया कि इस मामले में ‘आका’ कौन है। पुलिस के मुताबिक, गुरुवार दोपहर शिकायत दर्ज किए जाने के बाद आगे की कार्रवाई की गई। पुलिस ने यह माना कि शिकायतकर्ता को विनोद वर्मा द्वारा धमकी दिए जाने की पुष्टि नहीं हो सकी है। शिकायतकर्ता को किसने फोन करके धमकी दी, यह तुरंत इसलिए नहीं पता चल सका क्योंकि उसके पास लैंडलाइन था।

https://www.youtube.com/watch?v=-NZlF1D–aM

पुलिस के मुताबिक, वह लैंडलाइन पर आने वाले कॉल्स की डिटेल्स जुटा रही है। पुलिस ने यह भी कहा है कि सीडी किसने बनाई, यह भी पता नहीं चल सका है। उसका कहना है कि विनोद वर्मा को पूछताछ के लिए अब छत्तीसगढ़ लाया जाएगा। इसके लिए उन्हें दिल्ली की अदालत में पेश करके ट्रांजिट रिमांड की अर्जी दी जाएगी।

पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता को धमकी देते हुए कहा गया था कि सीडी में क्या है, वह चाहे तो आकर जांच सकता है। उसे एक पता भी दिया गया था। शिकायतकर्ता के बताए गए पते पर पुलिस ने जांच की तो पाया कि वहां एक शख्स सीडी की कॉपी तैयार करने का काम करता है। उस शख्स ने बताया कि उसे एक सीडी के 1 हजार कॉपी बनाने का ऑर्डर मिला था।

https://www.youtube.com/watch?v=UtqWVHIyrhc&t=7s

पुलिस के मुताबिक, इस व्यक्ति के कॉल रिकॉर्ड से विनोद वर्मा से बातचीत के बारे में जानकारी मिली। फिर नंबर के गाजियाबाद में होने के बारे में पता चला। इसके बाद, छत्तीसगढ़ पुलिस ने गाजियाबाद और दिल्ली पुलिस की मदद से विनोद वर्मा के घर पर छापा मारा। पुलिस के मुताबिक, उसे वहां से 500 सीडी मिली है। पुलिस का कहना है कि दिल्ली में भी जिसने सीडी की कॉपियां तैयार की है, उसने भी इस बात की पुष्टि की है कि सीडी विनोद वर्मा ने बनवाई है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved