ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

योगी’राज’ में गरीबों के लिए उपचार नहीं, कैंसर पीड़ित बेटे के लिए मांगी इच्छामृत्यु

kanpur

कानपुर। उत्तर प्रदेश में आर्थिक रुप से कमजोर लोगों के लिए अस्पतालों में महंगा इलाज करवाना अब भी दूभर है। एक मां अपने बच्चे की जान बचाने के लिए अपनी जान भी दे सकती है लेकिन उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक मां ऐसी भी है जो अपने बेटे के लिए मौत की दुआ कर रही है।

दरअसल कानपुर की इस महिला का 10 साल का बेटा कैंसर से पीड़ित है। महिला ने उसे कई अस्पतालों में दिखाया लेकिन इलाज की कीमत काफी ज्यादा है। उसकी आर्थिक स्थित ठीक नहीं है होने के कारण वह अपने बेटे का इलाज करा पाने में सक्षम नहीं है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बेटे का इलाज न हो पाने के कारण महिला ने बेटे के लिए राष्ट्रपति कोविंद से इच्छामृत्यु की गुहार लगाई है। इसके लिए उन्होने राष्ट्रपति को पत्र लिखा है।

उसने बताया है कि इलाज का खर्च बहुत अधिक है जिसे वहन कर पाने में वह समर्थ नहीं है। इसलिए कैंसर से जूझ रहे उसके बेटे को इच्छामृत्यु दी जाए।

भारत में इच्छामृत्यु गैरकानूनी है और कुछ दुर्लभ मामलों में लाइफ सपॉर्ट के सहारे जिंदा व्यक्ति को उससे हटाकर इच्छामृत्यु दी जा सकती है। किसी इंजेक्शन आादि के जरिए इच्छामृत्यु अभी भी भारत में गैरकानूनी है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved