ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  

पेट्रोल के बढ़ते दामों पर बीजेपी करे प्रदर्शन, हम उन्‍हें विपक्ष समझ सिनेमा देख लेंगे- रवीश

विमर्श
1 year ago

पेट्रोल का भाव 83.32 रुपये प्रति लीटर ? महाराष्ट्र के सोलापुर में 15 सितंबर हाई स्पीड पेट्रोल का भाव 83 रुपये 32 पैसे प्रति लीटर था? कुछ के मुताबिक एचपी के पेट्रोल पंप पर सादा पेट्रोल 80 रुपये 10 पैसे प्रति लीटर है। किसी पं ुपये 27 पैसे प्रति लीटर है। यहाँ 14 सितंबर को इंडियन आयल का रेट 80 […]

असफल योजनाओं की सफल सरकार, अबकी बार ईवेंट सरकार- रवीश कुमार

विमर्श
1 year ago

2022 में बुलेट ट्रेन के आगमन को लेकर आशावाद के संचार में बुराई नहीं है। नतीजा पता है फिर भी उम्मीद है तो यह अच्छी बात है। मोदी सरकार ने हमें अनगिनत ईवेंट दिए हैं। जब तक कोई ईवेंट याद आता है कि अरे हां, वो भी तो था,उसका क्या हुआ, तब तक नया ईवेंट आ जाता है। सवाल पूछकर […]

लालू यादव को ‘चारा चोर’ बनाने का सच

विमर्श
1 year ago

कर्नाटक के पूर्व डीजीपी एवं चारा घोटाले के मुख्य जांच अधिकारी एपी दुराई (IPS) ने अपनी आत्मकथा “परसूट आफ ला एंड ऑर्डर” (Pursuit of law and order) में अध्याय 26 “द सीबीआई वर्सेज लालू प्रसाद यादव” (The CBI Vs Lalu Prasad Yadav) में पृष्ठ 230, 231, 232 में लिखा है कि सीबीआई ने अपने द्वारा दायर 49 मुकदमो में से […]

चमारी बामणी बणी…राजस्थान के स्कूल कॉलेजों में अब ऐसी कहानियां पढ़ने को मिलेगी !

विमर्श
1 year ago

चमारी बामणी बणी… राजस्थान के स्कूल कॉलेजों में अब ऐसी कहानियां पढ़ने को मिलेगी !! हाल ही में पुणे से एक खबर आई कि एक महिला वैज्ञानिक ने अपनी नौकरानी पर मुकदमा दर्ज करवाया कि उसने मराठा हो कर फर्जी पंडिताइन बन कर उसके घर मे खाना बनाया ,जिससे असली पंडिताइन जो कि वैज्ञानिक है ,उसका धर्म भ्रष्ट हो गया […]

जाली नोट लेकर जो बैंक गया वो तो असली लेकर बाहर आ गया- रवीश कुमार

विमर्श
1 year ago

जाली नोट लेकर जो बैंक गया वो तो असली लेकर बाहर आ गया क्या आपने इस पर कभी सोचा कि नोटबंदी की हबड़दबड़ में जो भी जाली नोट बैंक में जमा हुआ होगा, उसके बदले जमाकर्ता असली नोट लेकर बाहर आ गया होगा। हंसते-खेलते। किसी भी बैंक में जब आप नोट जमा करते हैं तो कैशियर नोट की संख्या ही […]

क्या मुंबई के लोग 100 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल भी खुशी-खुशी खरीद सकते हैं?

विमर्श
1 year ago

दिल्ली में शनिवार को पेट्रोल 70.03 रुपया प्रति लीटर हो गया. पिछले आठ महीने में यह अधिकतम वृद्धि है। फाइनेंशियल एक्सप्रेस अख़बार ने लिखा है कि जुलाई महीने से पेट्रोल की कीमतों में 6.94 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है। डीज़ल के दाम में भी 4.73 प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी हुई है। मुंबई के लोग वाकई अमीर हैं। 79.14 […]

रोहित वेमुला और परमात्मा यादव की संस्थानिक हत्या का फर्क

विमर्श
1 year ago

रोहित वेमुला की सांस्थानिक हत्या पर पूरा देश व्यथित हो आंदोलित हो उठा। रोहित ने संघी और जातिवादी प्रशासन के उत्पीड़न से तंग आकर आत्महत्या कर लिया। पूरे देश मे रैलियां, गोष्ठियां, कैंडल मार्च, सेमिनार होने लगे। मनुवाद की कोख से जन्मी संस्थाए रोहित की मौत के बाद पैदा हो रहे जन उफान के बाद बैकफुट पर हो गयी थी […]

खाना बनाने वाली ब्राह्मण नहीं निकलीं तो अफसर का धर्म हो गया भ्रष्ट, महिला पर केस दर्ज कराया

विमर्श
1 year ago

यादव जी! आप खुद को क्षत्रिय समझे या भगवान कृष्ण का वंशज या यह रटते रहें कि “यदोरबंशः नरः श्रुत्वा,सर्व पापयै प्रमुच्यते”(यदुवंश का इतिहास सुनने से सारे पापों का विनाश हो जाता है) लेकिन आपकी मान्यता तुलसीदास मुताबिक “आभीर, यवन, किरात, खल, स्वपचादि अति अध रूपजे” (अहीर….अत्यंत अधम/नीच है।), ब्यास स्मृति के मुताबिक “बर्द्धिको, नापितो, गोपः, आशापः, कुम्भकारकः,…..ऐते अंत्यणाः समारण्याता […]

हम तुम्हारी धमकी की पैकेजिंग करके इतना महंगा बेच देंगे कि अफसोस से मर जाओगे-दिलीप मंडल

विमर्श
1 year ago

नई दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार, लेखक और बहुजन चिंतक दिलीप मंडल ने जान से मारने की धमकी देने वालों को करारा जवाब दिया है। मंडल ने अपने नए फेसबुक पोस्ट में बताया किया दिल्ली में बैठे संपादकों, पत्रकारों से ज्यादा खतरा सच दिखाने वाले कस्बाई पत्रकारों को है। उन्होने लिखा, दिल्ली के किसी पत्रकार या संपादक या एंकर का ख़बर लिखने […]

जब तक लखनऊ मेट्रो रहेगी, अखिलेश यादव लोगों के जेहन में दौड़ते रहेंगे

विमर्श
1 year ago

यह सर्वविदित है कि यूपी के लखनऊ में “मेट्रो” की थीम,मेट्रो बनाने हेतु कंस्ट्रक्शन विभाग का गठन तथा बजट का प्राविधान पूर्व की सरकार के मुखिया अखिलेश यादव ने किया था लेकिन इसे लेकर वर्तमान में जिस तरीके से सोशल मीडिया पर एक्शन-रिएक्शन आ रहा है, उसे मैं उचित नही मान सकता। सरकारे बदलती हैं तो उनकी प्राथमिकताएं बदल जाती […]

गौरी लंकेश हत्या: शरीर मिटा दोगे पर विचारधारा को कैसे मिटा पाओगे?….

विमर्श
1 year ago

कर्नाटक की मशहूर लेखिका, पत्रकार और अंधविश्वास के विरुद्ध संघर्षरत रहने वाली गौरी लंकेश को उनके घर पर अज्ञात हमलावरों ने गोली मार करके हत्या कर दिया है जो दुखद एवं शर्मनाक है। गौरी लंकेश जी दाभोलकर, कुलबर्गी,पनसारे जैसे शहीद साहित्यकारों एवं समाज सुधारकों की श्रृंखला की एक मौत थीं जिनके मारे जाने का नितांत अफसोस है, पर हत्या करने […]

शिक्षक दिवस: जब राधाकृष्णन ने चुरा ली थी अपने छात्र की थीसिस

विमर्श
1 year ago

भारत के राष्ट्रपति पद तक पहुंचे राधाकृष्णन की सारी प्रसिद्धि उनकी पुस्तक इंडियन फिलॉसॉफी के कारण है। आपको यह जानकारी हैरानी होगी कि ये दोनों भाग चुराए गए थे। राधाकृष्णन के लिखे नहीं थे। मूल रूप से वह एक छात्र जदुनाथ सिन्हा की थीसिस थी। राधाकृष्णन उस समय कलकत्ता विश्वविद्यालय में प्रोफेसर थे। थीसिस उनके पास चेक होने आई थी. […]

देश के न्यायालयों से मुसलमानों की खत्म हो रही हैं उम्मीदें?

विमर्श
1 year ago

भारत की अदालतों में मुसलमानों के लिए न्याय नहीं है , यह 1 नहीं 100 बार सिद्ध हो चुका है , सिर्फ़ अदालतें ही नहीं , व्यवस्था में भी मुसलमानों के लिए न्याय नहीं है , केवल उत्तर प्रदेश की बात करूँ तो 4 महीने पहले चुन कर आई योगी सरकार केवल और केवल मुसलमानों के विरुद्ध फैसले ले रही […]

बीजेपी को राजनीतिशास्त्र नहीं, अपराधशास्त्र के नजरिए से समझिए

विमर्श
1 year ago

आप में से कितने लोगों को आठ महीने पुरानी यह खबर याद है. 27 दिसंबर, 2016 की यह लगभग हर अखबार में पहले पन्ने पर छपी थी. और चैनलों में प्रमुखता से चली थी. नोटबंदी के बाद हर दल ने अपना कैश बैंक में जमा कराया. बीएसपी ने भी कराया. बीएसपी के पैसे पर इनकम टैक्स की निगरानी लगा दी […]

नोटबंदी की ख़बर को चैनलों से ग़ायब करने के लिए कौन सा इवेंट आने वाला है?

विमर्श
1 year ago

नोटबंदी फेल हो गई है। भारतीय रिज़र्व बैंक ने अपनी सालाना रिपोर्ट में कह दिया कि 99 प्रतिशत पांच सौ और हज़ार के नोट वापस आ गए हैं। नोटबंदी के समय 15 लाख 44 हज़ार करोड़ के पांच सौ और हज़ार के नोट चलन में थे। 15 लाख 28 हज़ार करोड़ रुपया वापस आ गया है। इसका मतलब है कि […]

2019 चुनाव में धर्मनिरपेक्ष गठबंधन की नई दिशा तय करेगी लालू की मुहिम

विमर्श
1 year ago

बिहार की राजधानी पटना में लालू प्रसाद यादव जी के द्वारा पटना से “भाजपा भगाओ देश बचाओ”रैली के आयोजन संघ-भाजपा मुक्त राजनीति के लिए एक ऐतिहासिक और सार्थक कदम माना जा रहा है और इस रैली से आने वाले दिनों में सम्पूर्ण भारत में विपक्षी एकजुटता को एक नई दशा दिशा मिलने आज कि इस रैली का बहुत बड़ा योगदान […]

काठ का उल्लू बनाने वाले बाबाओं के चमत्कारों की दरकार हर युग में रही है

विमर्श
1 year ago

फिलहाल मौका और दस्तूर बाबाओं को क्रिटिसाईज करने का है तो इस बहाने मैं भी अपना नजरिया पेश किये दे रहा हूँ। जहां तक मेरी समझ है कि बाबा दोषी है या नहीं, उससे पहले आपको ‘राम रहीम’ या ‘आसाराम’ को ‘बाबा’ से अलग करना होगा। यह व्यक्ति दोषी हो सकते हैं लेकिन बाबा को दोष देंगे तो पहले दोषी […]

सामाजिक न्याय की कब्रगाह बनता जा रहा है दिल्ली विश्वविद्यालय

विमर्श
1 year ago

दिल्ली विश्वविद्यालय देश की राजधानी में स्थित प्रतिष्ठित केन्द्रीय विश्वविद्यालय है। इस विश्वविद्यालय ने देश के सामाजिक सांस्कृतिक परिवर्तन में हमेशा अपनी रचनात्मक भूमिका निभाई है। यह विश्वविद्यालय प्रगतिशील मूल्यों की बुनियाद पर खड़ा रहा है लेकिन पिछले कुछ वर्षों से आरक्षण सम्बन्धी असंवैधानिक प्रक्रिया अपनाने का मामला सामने आ रहा है दिल्ली विश्वविद्यालय के कई विभागों में एमफ़िल, पीएचडी […]

डेरे का फेरा: भक्ति इतना न करो कि होश खो दो

विमर्श
1 year ago

इस देश के त्रासदी यह है कि जिन लोगो के लिए आप काम करते है वो भी समय आने पर बाबाओ की अफीम के मज़े लेने चले जाते हैं और नतीजा है सिरसा. राम रहीम एक निशानी है उस बड़ी बीमारी का जिसका इलाज़ हमारे ‘डाक्टर’ करना नहीं चाहते. इस देश के लोकतंत्र को सबसे बड़ा खतरा आज अगर किसी […]

यह डेरों की सफलता नहीं, आंबेडकरवादी-समाजवादी-समतावादी राजनीति की असफलता है

विमर्श
1 year ago

यह डेरों की सफलता नहीं, आंबेडकरवादी-समाजवादी- समतावादी राजनीति की असफलता है। हरियाणा, पंजाब और साथ लगे राजस्थान का हिस्सा सामाजिक आंदोलनों की दृष्टि से बंजर साबित हुआ है। यह देश में अनुसूचित जाति की सबसे सघन आबादी वाला इलाक़ा है। हर तीसरा आदमी SC है। यहाँ समाजवादी आंदोलन कभी नहीं पनप सका। मंडलवादी-समतावादी राजनीति से भी यह इलाक़ा अछूता रहा। […]

More Posts
To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved