fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

कोर्ट के फैसले के बावजूद भी BJP लागू नहीं करेगी प्रमोशन पर आरक्षण का फैसला: मायावती

Mayawati-BJP-Modi

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि राज्यों के लिए ऐसी को शर्त नहीं  है की वे पिछड़ेपन के आकड़े एकत्र करे, जैसा 2006  में हुआ था. राज्यों को यह फैसला सकारत्मक रूप से लेना चाहिए।

Advertisement

बहुजन समाज पार्टी ने कहा की भाजपा के कथित दलित विरोधी रुख को उजागर करने के मकसद से चुनाव  में आरक्षण को चुनावी मुद्दा बनाएंगी क्युकी उनका मानना है की अधिकांश राज्य सरकारे इस संबंध में उच्चतम न्यायालय को अनदेखा करेंगी। बसपा सुप्रीमो  मायावती ने कल कहा था की अनुसूचित जाति तथा जनजाति के नहीं करेगी कर्मचारीओ को आरक्षण पर उच्चतम न्यायलय के फैसलों का कुछ हद तक स्वागत है। उन्होंने कहा था की न्यायलय ने कोई प्रतिबन्ध नहीं लगाया है और केंद्र तथा राज्य सरकारों से इसे लागु करने को कहा गया है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा की राज्यों के लिए ऐसी कोई शर्त नहीं है कि वे पिछड़ेपन के आकड़े को इकट्ठा करे,जैसा 2006 में हुआ था, राज्यों को यह फैसला सकारत्मक रूप से लेना चाहिए।

बसपा के एक नेता  उजागर करने की शर्त पे बताया की पार्टी के लिए यह महत्वपूर्ण मुद्दा है। वह इसे संसद के बाहर और भीतर उठती रही है। प्रोन्नति में आरक्षण निश्चित तौर पर चुनावी मुद्दा बनेगा।

उन्होंने ये भी कहा कि राज्यों और केंद्र सरकारो को स्वतंत्रता दी गयी है कि वे इसे लागू करे या नहीं। बसपा का पूरा प्रयास होगा कि अनुसूचित जाती और जनजाति के लोगों को उनके अधिकारों से वंचित न किया जा सके।


Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

0
To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved