fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने दी भाजपा को आंदोलन की चेतावनी, होगी आर-पार की लड़ाई

Haryana CM Manohar Lal & Yashpal Malik

जाट आरक्षण मामले को लेकर फिर मामला गरमाता नज़र आ रहा है। अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा की “आरक्षण की मांग को लेकर आठ साल से आंदोलन किया जा रहा है। लेकिन, आगामी लोकसभा चुनाव में हम अपने साथियों पर चलाई गई बुलेट का बदला बैलेट से लेंगे। ”

Advertisement

jat movement

रविवार को आयोजित चदेंली इंटर कॉलेज में जाट सम्मलेन का आयोजन किया गया था जहा यशपाल मलिक ने कहा की पहले भी हमारे कई जाट भाईओ ने अपनी जान गवाई है 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले हुआ हादसा आज भी उन्हें याद है।

उस समय की मौजूदा कांग्रेस सरकार ने जाटों के लिए आरक्षण की घोषणा की थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यह निष्प्रभावी हो गया। इसके पश्चात राजस्थान, हरियाणा और मध्य प्रदेश में जाट आंदोलन चलाया गया। यह आंदोलन काफी उग्र हो गया। पुलिस ने काफी जगह लाठीचार्ज भी किया जिसमे जाट आंदोलन में शामिल 18 लोग मारे गए।

आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक ने प्रधानमत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा की प्रधानमत्री अपने वादे से मुकर गए है। भाजपा के नेता और मंत्रियों के कहने पर जाट समाज ने आंदोलन की शुरुवात करी जिसमे कई जाट समाज के लोगो को अपनी जान तक गवानी पड़ी, लेकिन आरक्षण नहीं मिल सका। और अब मौजूदा सरकार ओबीसी के आरक्षण का बंटवारा करने की फिराक में लगी हुई है, जिसे हम हरगिज़ नहीं होने देंगे। अगर सरकार बीसी के आरक्षण का बंटवारा करती है तो पूरा जाट समाज एक बार फिर आंदोलन करेगा।


सम्मलेन में मलिक ने भाजपा पर जाट राजनीति करने का आरोप लगाया है, वही जाट आरक्षण आंदोलन के लिए अभी से पूर्ण तैयारी की जा रही है। राष्ट्रीय महासचिव एस अहलावत और राष्ट्रीय सचिव चौधरी रुमाल सिंह ने इसका संकेत भी सम्मलेन में दिया। राष्ट्रीय अध्यक्ष की जाट आरक्षण आंदोलन की घोषणा के बाद आर-पार की लड़ाई का एलान किया जाएगा।जिसका नेतृत्व प्रदेश महासचिव धर्मराज चौधरी, मंडल अध्यक्ष चौधरी सत्यवीर मान, भगत सिंह बॉबी, नीरज चौधरी, दीपक चौधरी, भूपेंद्र चौधरी आदि मौजूद रहे।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

0
To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved