ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

मुंबई। जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने उत्तर प्रदेश के रायबरेली में हाल ही में एनटीपीसी के प्लांट में बॉयलर पाइप फटने से मजदूरों की मौत पर संवेदना व्यक्त की।

कन्हैया ने इस घटना के लिए जिम्मेदार सरकार और प्रशासन पर निशाना साधते हुए कहा कि  कि इसी वक्त जब बहुत सारे लोग उन मजदूरों के प्रति संवेदना व्यक्त कर रहे हैं, उसमें यह समझने की जरुरत है कि हर बार इस देश के जो आम लोग हैं चाहे वह किसान हो या मजदूर हो, काम करते हुए रोजगार करते हुए शहीद हो जाते हैं और कुछ लोग संवेदना व्यक्त करके भूल जाते हैं क्योंकि सवाल नहीं उठाया जाता है। तो वह क्या कारण थे जिसकी वजह से बॉयलर पाइप फटा, किसकी जिम्मेदारी थी जिसकी वजह से जान गई। इस पर कोई चर्चा नहीं हो रही कि आगे ऐसी घटना नहीं हो इसके लिए क्या कदम उठाए गए। इस लापरवाही की शिकार हमेशा देश की आम जनता होती है।

कन्हैया ने कहा, ‘आज देश की समस्याओं पर कुछ ही लोग बोल पा रहे हैं और जो बोल रहे हैं, उन्हें परेशान किया जा रहा है या तो जेल में डाल दिया जा रहा है या कॉमरेड पानसारे, कुलबर्गी, दाभोलकर, गौरी लंकेश और न जाने कितने वो लोग जो मीडिया की सुर्खियां नहीं बन पाए, इनकी हत्या कर दी जा रही है।’

JNUSU के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार महाराष्ट्र से Live.

Posted by People's Beat on Sunday, 5 November 2017

अपने संबोधन के दौरान जेएनयू के छात्र नेता ने बताया कि एक व्यक्ति ने पूछा कि कितने साल से जेएनयू में पीएचडी कर रहे हो? ये सवाल आपके लिए जरुरी हो सकता है। मैं इसका जवाब भी दे दूंगा लेकिन क्या इस देश का राष्ट्रीय सवाल यही है कि कन्हैया कुमार कितने साल से पीएचडी कर रहा है? क्या इस देश का राष्ट्रीय सवाल यही है कि जेएनयू में नारा लगा या नहीं? क्या इस देश का राष्ट्रीय सवाल यही है कि अफजल गुरु देशभक्त था या आतंकी? क्या इस देश का राष्ट्रीय सवाल यही है कि ताजमहल था या तेजोमहल? क्या इस देश का राष्ट्रीय सवाल यही है कि महाराणाप्रताप मुगलों को हराए था नहीं? मैं समझता हूं कि यह राष्ट्रीय सवाल नहीं है। क्योंकि राष्ट्रीय सवाल और राष्ट्रवाद के सवाल में यदि आम जनता नहीं है तो किसी देश का सवाल नहीं है। वह किसी पॉलिटीकल पार्टी का सवाल है।

 

उन्होने कहा, ‘पूरी दुनिया में जितने लोग पीएचडी करने में वक्त लगाते हैं, मैं उससे कम उम्र में पीएचडी कर रहा हूं।’

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved