ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

BSP की मेरठ में विशाल रैली, युवा के हाथ में पार्टी की कमान आने के संकेत

mayawati

लखनऊ। बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती बीजेपी की नीतियों को लेकर आर पार की लड़ाई के मूड में हैं। इसी को लेकर मायावती मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार की दलित और अल्पसंख्यक विरोधी नीतियों के खिलाफ आगामी सोमवार से जनता को आगाह करने के अभियान का आगाज करेंगी। दलित उत्पीड़न के मुद्दे पर राज्यसभा से इस्तीफा देने के बाद मायावती यूपी के मेरठ में बड़ी रैली कर 2019 चुनाव के लिए भाजपा को बड़ी चुनौती देने जा रही हैं।

वैसे तो मायावती इस रैली के जरिए दलित, आदिवासी, पिछड़े और अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को सरकार की दमनकारी नीतियों के प्रति जागरुक करने की शुरूआत बता रही हैं लेकिन इस रैली में पार्टी के ऊपरी स्तर पर बडे फैसले लेने की भी उम्मीदें हैं। सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि मायावती इस रैली में बीएसपी में बड़े बदलाव कर देशभर को आश्चर्यचकित करने वाली हैं। सूत्रों के हवाले से यह भी कहा जा रहा है कि बीएसपी की कमान किसी युवा के हाथ में भी जा सकती है।

पढ़ें- राज्यसभा से इस्तीफे के बाद बड़ी रैली करेंगी मायावती, बीजेपी की साजिशों का करेंगी पर्दाफाश

आपको बता दें कि संसद के मानसून सत्र की शुरूआत में ही मायावती ने दलित मुद्दों पर न बोले जाने को लेकर राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। अब मायावती दलित व अल्पसंख्यक मुद्दों पर मेरठ, सहारनपुर और मुरादाबाद जिलों में दलित एवं अल्पसंख्यक समुदायों के लोगों को निशाना बनाने की बढ़ती घटनाओं को ध्यान में रखते हुए बीएसपी ने जनजागरण अभियान की शुरुआत मेरठ से करने की पहल की है।

बीएसपी ने रैली की जानकारी प्रेस रिलीज जारी कर की है, लेकिन सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस रैली में पार्टी में बड़े फेरबदल होने की उम्मीद है। इस रैली के जरिए संभव है कि पार्टी में ऊपरी स्तर पर बड़ा फेरबदल हो। आपको बता दें कि उम्मीद के बावजूद बीएसपी ने यूपी चुनावों में भाजपा से पटखनी खाई थी। इसके लिए बीएसपी ने ईवीएम को जिम्मेदार बताया था जोकि काफी हद तक संभव था।

मायावती के आरोपों के बाद कई जगहों से ईवीएम में गड़बड़ी की खबरें सामने आई थीं। पत्रकारों के सामने भी खुलासा हुआ था कि मध्य प्रदेश में उपचुनावों में ईवीएम ने दो अलग बटन दबाने पर बीजेपी को ही वोट गया था। हालांकि इस मामले में चुनाव आयोग खुद को पाक साफ बताता रहा लेकिन हकीकत लोगों के सामने पहुंच चुकी थी।

 

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved