fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

राजस्थान में भाजपा के बागी विधायक बनाएंगे तीसरा दल, अमितशाह-वसुंधरा को बताया तानाशाह

ghanshyam tiwari
(Image Credits: Eenaduindia)

भाजपा के बागी विधायक घनश्याम तिवारी राजस्थान में तीसरा दल बनाने जा रहे है। उनका कहना है की राजस्थान में वसुंधरा सरकार तानाशाह के तरह व्यवहार करती है। आगामी विधानसभा में यह दल दो बड़ी पार्टियों के समक्ष तीसरा विकल्प बन सकेगा।

Advertisement

भारत वाहिनी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष घनश्याम तिवारी का कहना है ,तीसरा दल राज्य के सभी सीटों पर प्रत्याशी खड़े करने की कोशिश करेगा। घनश्याम तिवारी आरएसएस विचारधारा रखने वाले, 6 बार विधायक रहने वाले, और लम्बे समय से ब्राह्मण समुदाय से पैंट रखने वाले तथा लंबे समय से बीजेपी से जुड़े रहने वाले व्यक्ति है।

घनश्याम तिवारी का आंकलन था की भाजपा राजस्थान में चुनाव हारने वाली है। और कांग्रेस इस स्थिति में नहीं की वो सरकार बना ले। ऐसे में तीसरे दल की व्यापक संभावना है।

तिवारी ने कहा, ‘राजस्थान में ऐसा कोई राजनीतिक दल सक्रिय नहीं है जो तीसरा मोर्चा बनाए, इसलिए हम ‘तीसरे दल’ के गठन पर काम कर रहे हैं। इसमें वे लोग होंगे जो राजस्थान में काम कर रहे हैं या कुछ संगठन हैं जो कभी न कभी राजस्थान में सक्रिय रहे हैं। उन सबके साथ मिलकर हम 200 विधानसभा सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े करेंगे।’

उन्होंने कहा कि इस संबंध में अन्य लोगों से बात चल रही है। उन लोगों में से ही एक खींवसर से विधायक हनुमान बेनीवाल है।


तिवारी ने कहा कि राजस्थान के सम्पूर्ण विकास और राजस्थान को ‘बीमारू’ राज्य के श्रेणी से निकालने के लिए तीसरा दल जरूरी है। ‘कांग्रेस-भाजपा की द्विदलीय व्यवस्था से हटकर एक तीसरे दल का आना जरूरी है। उनका कहना ही की विकास वहीं होता है जहां राजनीतिक मोर्चे पर ‘त्रिकोण’ बनता है।

Amit Shah(Image Credits: The Hindu)

हाल ही में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा भाजपा की सरकार को राजस्थान में अंगद का पांव बताए जाने पर तिवारी ने इसकी आलोचना की थी। तिवारी ने आरोप लगाया, ‘न तो अमित शाह और न ही वसुंधरा राजे (मुख्यमंत्री) में लोकशाही की भावना है। दोनों ही तानाशाह हैं।’

उन्होंने कहा ‘शाह का यह कहना कि मुख्यमंत्री मैं बनाऊंगा, राजस्थान की जनता का अपमान है। इस तरह की बात करना लोकतंत्र को चुनौती देना है। इस चुनौती का राजस्थान की जनता मुनासिब जवाब देगी।’

इसी साल के अंत में राजस्थान में विधानसभा चुनाव होने है। चुनाव आयोग ने राजस्थान के साथ – साथ बाकी 4 राज्यों में होने वाले चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है। राजस्थान में 7 दिसंबर को 200 सीटों पर चुनाव लड़ा जायेगा। 11 दिसंबर को इसके मतों की गणना की जायेगी।

चुनाव के दौरान सभी पार्टियां चुनाव को अपने पक्ष में करने के लिए भरसक प्रयास करती है। कोई पार्टी गठबंधन का सहारा लेती है, और कहीं कहीं तो नया दल सामने आता है। ऐसा ही एक उदाहरण, राजस्थान में तीसरा दल के आने के कारण हमें देखने को मिलता है।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

0
To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved