ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

बीजेपी एंड कंपनी ने हर तरफ असुरक्षा और भयभीत करने वाला माहौल बना दिया है- मायावती

mayawati attack bjp

लखनऊ। बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने पार्टी के उत्तर प्रदेश स्टेट यूनिट से जुड़े व ज़मीनी स्तर तक फैले पार्टी के छोटे-बड़े विभिन्न स्तर के वरिष्ठ पदाधिकारियों व ज़िम्मेदार कार्यकर्ताओं के साथ मासिक बैठक की। इस बैठक में सर्वसमाज में पार्टी के जनाधार को बढाने के लिये होने वाले पार्टी के कार्यक्रमों व कैडर के आधार पर पार्टी संगठन को तैयार करने के साथ-साथ प्रदेश के वर्तमान राजनीतिक हालात की गहन समीक्षा की गई। साथ ही बदली हुई राजनीतिक परिस्थिति में नई रणनीति अपनाकर काम करने के लिये अलग से विशेष निर्देश दिये।

खास बातें-

  1. मायावती ने याद दिलाया बाबा साहब को रोकने के लिए हुई साजिश
  2. भाजपा पर लगाया संवैधानिक व्यवस्था को ध्वस्त करने की कोशिश का आरोप
  3. योगी सरकार को बताया दिखावे की सरकार
  4. बीएसपी कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेकर किया क्रॉसचैक

बीएसपी उत्तर प्रदेश स्टेट कार्यालय 12 माल एवेन्यू में आयोजित इस विशेष बैठक में भी पार्टी प्रमुख मायावती ने पार्टी के लोगों से फीडबैक प्राप्त किया। साथ ही अपनी जानकारी के आधार पर फिर उनका क्रॉसचेक भी किया और इस प्रकार किसी को भी भ्रमित करने वाली मनमर्जी वाली सूचना देने की इजाज़त नहीं दी।

पार्टी की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस प्रकार की बैठकों के अनवरत जारी रहने के कारण आज की बैठक में यह महसूस किया गया कि बीएसपी के लोग हर स्तर पर मूवमेन्ट के साथ काफी मज़बूती से खड़े हैं और नेतृत्व के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आत्म-सम्मान व स्वाभिमान के मूवमेन्ट को आगे बढ़ाने के साथ-साथ परमपूज्य बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के ब्रह्म वाक्य ’’सत्ता की मास्टर चाबी प्राप्त करके अपना उद्धार स्वयं करने’’ के प्रति तन, मन, धन के साथ काम करते रहने के लिये कृत संकल्पित व लालायित भी हैं। इनके इस जोश व जज्बे में रत्ती भर भी कमी नहीं आई है बल्कि बीजेपी की विभिन्न चुनावी तिकड़मबाजी के सफल हो जाने से तथा जातिवादी तत्वों की उत्तर प्रदेश में भी सरकार बन जाने से उत्पन्न यहाँ ख़राब हालात के मद्देनज़र अब वे और भी ज्यादा ज़िद के साथ काम करने को तत्पर हैं।

पढ़ें- यूपी: साइकिल ट्रैक बचाने के लिए छात्रों ने चलाया ‘पोस्टकार्ड अभियान’

राज्यसभा सांसद मायावती ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि बीएसपी का मिशनरी मूवमेन्ट उत्तर प्रदेश में पहले की तरह ही काफी मजबूती से जड़ पकड़े हुए है और बीजेपी एण्ड कम्पनी व आरएसएस के लोग केवल लोगों को गुमराह करने के लिये अनेकों प्रकार की ग़लत अफवाहें फैलाने का काम करते रहते हैं। आरएसएस पिछले चुनावों के साथ-साथ अपने जातिवादी, साम्प्रदायिक व हिंसक राजनीतिक एजेण्डे को लागू करने में आजकल सरकारी धन, सुविधा व शक्ति का भी खुलकर उपयोग कर रहा है व करवा भी रहा है और इस क्रम में खासकर बीएसपी को निशाना बनाने का काम किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि इन्हीं जातिवादी तत्वों ने आपस में अन्दुरुनी गठजोड़ करके परमपूज्य बाबा साहेब डा. अम्बेडकर के मानवतावादी मूवमेन्ट को कभी भी चुनावी राजनीति में सफल नहीं होने दिया, परन्तु बाबा साहेब के अथक प्रयासों से उनके राजनीतिक चेतना के मूवमेन्ट को वे लोग बहुत चाहने के बावजूद नहीं रोक पाये। इस प्रकार बाबा साहेब देश की राजनीति व देश की तकदीर को नया मानवतावादी आयाम देने में ऐतिहासिक तौर पर काफी सफल रहे, जिसका ही परिणाम है कि आज बीजेपी एण्ड कम्पनी जैसी जातिवादी ताकतें सत्ता का घोर दुरूपयोग करने के बावजूद बाबा साहेब डा. अम्बेडकर की सर्वसमाज में से खासकर करोड़ों ग़रीबों, किसानों, मजदूरों, दलितों, पिछड़ों, धार्मिक अल्पसंख्यकों आदि के हित व कल्याण के प्रति मानवतावादी सोच व संवैधानिक व्यवस्थाओं को पराजित नहीं कर पा रही हैं और विभिन्न स्तरों पर उनके इस प्रयास का जबर्दस्त विरोध जारी है।

https://www.youtube.com/watch?v=mP-hou-UPn4

बाबा साहेब डा. अम्बेडकर की उसी जबर्दस्त सेाच, ऊर्जा व शक्ति का देश में सही प्रतिनिधित्व करने वाली एक मात्र पार्टी बीएसपी ही है जो हाल के कुछ चुनावी अघातों के बावजूद बाबा साहेब की ही तरह किसी के भी सामने झुकने या घुटने टेकने वाली नहीं है बल्कि अपने संघर्षों पर भरोसा करते आगे बढ़ते रहने के विश्वास पर पूरी तरह से अडिग है।

मायावती ने कहा कि बीजेपी एण्ड कम्पनी व आरएसएस आदि के लोग बीएसपी को ही असल खतरा व चैलेन्ज मानते हैं, जैसाकि वे पहले बाबा साहेब डा. अम्बेडकर को अपने रास्ते की रूकावट मानते थे और ऐसे घोर जातिवादी तत्वों के केन्द्र व राज्यों की सत्ता में आ जाने पर देश की आमजनता को भी यह स्पष्ट होता जा रहा है कि इनकी नीति व कार्यक्रम देश व समाज को जोड़ने वाली नहीं बल्कि देश को तोड़ने वाली हैं। इसी का ही परिणाम है कि आज पूरे देश में लक्ष्य करके जातिवादी व साम्प्रदायिक हिंसा, तनाव व हत्याओं का एक खतरनाक वातावरण हर तरफ पैदा कर दिया गया है।

देश भर में ऐसी गंभीर आशंका, भय व आपसी भेदभाव एवं नफरत का माहौल सरकारी स्तर पर एक नीति के तहत इतने लम्बे समय तक कभी भी देखने को नहीं मिला, जबकि देश के करोड़ों ग़रीब, मज़दूर, किसान, अन्य मेहनतकश व बेरोजगार लोगों का जीवन बेहाल, अत्यन्त कष्टदायक व पीड़ादायी बना हुआ है और बीजेपी सरकार अपनी इस प्रकार की घोर विफलताओं पर पर्दा डालने तथा लोगों की आँखों में धूल झोंकने के लिये ही गोरक्षा, आतंकवाद, कश्मीर, सीमा पर तनाव, अपरिपक्व तरीके से नोटबन्दी व अब बिना पूरी तैयारी के ही जीएसटी जैसी जटिल नई कर व्यवस्था आदि के मामलों को देशभक्ति व नये भारत के निर्माण आदि के स्लोगन का सहारा लेने का प्रयास कर रही है।

https://www.youtube.com/watch?v=VNTIiXBaS5A

इसी प्रकार उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार भी अब तक के अपने कार्यकाल में जनहित व विकास एवं अपराध-नियंत्रण व कानून-व्यवस्था के मामले में बुरी तरह से विफल साबित होती हुई नजर आ रही है। हर तरफ असुरक्षा के भयभीत करने वाले माहौल के साथ-साथ प्रदेश में सड़क, पानी, बिजली, अस्पताल, शिक्षा आदि की आवश्यक सरकारी सेवाओें का भी काफी ज्यादा बुरा हाल बना हुआ है। यह सब तब है जब केन्द्र व प्रदेश में दोनों ही जगह बीजेपी की ऐसी सरकार है जिसने उत्तर प्रदेश के लगभग 22 करोड़ लोगों से काफी बड़े-बड़े वायदे किये हुये हैं और ऐसे हसीन व रंगीन सपने दिखाये हैं कि लोग बड़ी आसानी से इनके बहकावे में भी आ गये। केन्द्र में बीजेपी की मोदी सरकार की तरह ही प्रदेश की योगी सरकार भी छलावे व दिखावे की सरकार साबित हो रही है क्योंकि इनकी सरकारों में आमजनता का काफी ज्यादा बुरा हाल व जीवन त्रस्त है तथा लोगों की समस्यायें लगातार बढ़ती ही जा रही हैं।

मायावती ने कहा कि प्रदेश की जनता बीजेपी से दो बार, पहले सन् 2014 के लोकसभा आमचुनाव में और फिर सन् 2017 के विधानसभा आमचुनाव में धोखा खा चुकी है, परन्तु सर्वसमाज में से खासकर बीएसपी से जुड़े ग़रीब, मज़दूर, किसान, दलित, पिछड़े, मुस्लिम व अपरकास्ट समाज के गरीब लोग बीएसपी के ’’सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय’’ के लक्ष्य के प्रति कृत संकल्पित हैं और उन्हें पूरा विश्वास है कि इन सबका यह मिशनरी लगन आज नहीं तो कल जरूर ही सफलता के कदम चूमेगा। उन्होंने बीएसपी मूवमेन्ट के प्रति तन, मन, धन से सहयोग जारी रखने के लिये लोगों का आभार प्रकट किया।

संपादन- भवेंद्र प्रकाश

नोट-

नेशनल दस्तक के फेसबुक पेज पर हमारी खबरों का लिंक शेयर रोक दिया गया है  इस बीच आप हमारी खबरों को www.nationaldastak.com पर पढ़ सकते हैं

हमारी प्रमुख खबरों को हर दिन एक ईमेल के जरिए पाने के लिए हमारे न्यूजलेटर को सब्सक्राइब करें- http://www.nationaldastak.com/newsletter

ट्विटर पर हमें फॉलो करें- https://twitter.com/nationaldastak?lang=en

यूट्यूब पर हमारे पेज का सब्सक्राइब बटन दबाकर हमारे वीडियो पाएं – https://www.youtube.com/channel/UC7IdArS3MibBKFsqckq8GhQ

अगर आप फेसबुक या ट्विटर पर हैं तो हमारा निवेदन है कि आप इस हैशटैग को हर पोस्ट या स्टेटस के साथ डाल दें-

#IAmWithNationalDastak

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved