ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

विपक्ष को 69 % वोट मिले, इसको एकजुट होने का समय है- शरद यादव

sharad-yadav

नई दिल्ली। जेडी (यू) नेता शरद यादव ने गुरुवार को कहा कि साल 2014 के आम चुनावों में लगभग 70 फीसदी लोगों ने भाजपा और उसके सहयोगियों के खिलाफ मतदान किया। यह वह समय है जब लोगों को देश की साझी संस्कृति बचाने के लिए एकजुट किए जाने की जरुरत है।

यादव ने कहा, वे कांग्रेस मुक्त भारत नहीं चाहते हैं। वे विपक्ष मुक्त भारत चाहते हैं। यह कभी नहीं होगा। उन्हें नहीं भूलना चाहिए कि उन्हें सिर्फ 31 फीसदी मत मिले। इसका मतलब है कि 69 फीसदी लोगों ने उनके खिलाफ मतदान किया।

यादव ने कहा कि अब वास्तविक चुनौती बिखरी हुई ताकतों को एकजुट कर रही है जिसने भाजपा और उसके सहयोगियों के खिलाफ 69 फीसद वोट हासिल किए थे। यादव बिड़ला ऑडिटोरियम में तीसरे साझा विरासत बचाओ सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इस सम्मेलन में 15 विपक्षी दलों के नेताओं ने हिस्सा लिया।

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को बलात्कार का दोषी ठहराए जाने के बाद यादव ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, धर्म और राजनीति का मिश्रण खतरनाक होता है। उन्होने कहा, राम रहीम एकमात्र अपराधी नहीं है बल्कि जिन लोगों ने उससे समर्थन की मांग की, वह भी उतने ही जिम्मेदार हैं। जब धर्म और राजनीति मिल जाते हैं, तब यह इराक, सीरिया और पाकिस्तान को जन्म देता है।

Image may contain: 1 person, crowd and indoor

उन्होने कहा, एक तरफ हर दिन 25-30 किसान आत्महत्या कर रहे हैं जबकि दूसरी ओर विश्वास के नाम पर भीड़ लोगों की लिंचिंग कर रही है।

पीएम मोदी के नए भारत बनाने की बात पर हंसते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने कहा कि संविधान पर वो लोग हमला कर रहे हैं, जो स्वतंत्रता आंदोलन का हिस्सा नहीं थे। हम ऐसा नया भारत नहीं चाहते हैं जहां हर जगह भय का माहौल है।

शर्मा ने कहा, एनडीए सरकार ने भारत को धोखा दिया है। युवा बेरोजगार हैं, जीडीपी में गिरावट आई है और लाखों ने नौकरियां खो दी हैं। अर्थव्यवस्था इतनी खराब स्थिति में है कि स्थिर रहने के लिए कई सालों का समय लगेगा।

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने विपक्ष की एकता को रेखांकित करते हुए कहा कि विपक्षी दल चुनावों के साथ नहीं आए हैं बल्कि देश की साझी संस्कृति को सांप्रदायिक ताकतों से बचाने के लिए साथ आए हैं।

राजस्थान के कांग्रेस प्रमुख सचिन पायलट ने कहा कि देश की संस्कृति पार्टी और राजनीतिक विचारधारा से ऊपर थी। एक प्रधानमंत्री के रुप में राजीव गांधी ने कभी विपक्ष मुक्त भारत होने की बात नहीं की थी। भाजपा कांग्रेस और विपक्ष मुक्त भारत चाहता है। यह आज और कल होने वाला नहीं है।

आरजेडी नेता मनोज झा ने कहा कि यह महात्मा गांधी का देश है और राम ने हमें कभी नफरत नहीं सिखा। हम वह (बीजेपी) वाला राम नहीं चाहते, हमें गांधीवाला राम चाहिए।

इस सम्मेलन में सीपीआई, एनसीपी और जम्मू और कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेताओं ने भी हिस्सा लिया।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved