ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
राजनीति

मायावती की इस खुली चुनौती को स्वीकार कर पाएंगे योगी?

नई दिल्ली। यूपी निकाय चुनावों के नतीजे आने के बाद मायावती ने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा था, ”यदि बीजेपी ईमानदार है और लोकतंत्र में विश्वास करती है तो ईवीएम का इस्तेमाल बंद करे और बैलेट पेपर पर चुनाव कराए। 2019 में लोकसभा चुनाव होने हैं, अगर बीजेपी को लगता है कि जनता उसके साथ है तो वो बैलेट पेपर से चुनाव को लागू करे। मैं दावे के साथ कह सकती हूं कि बैलेट पेपर से मतदान हुआ तो बीजेपी दोबारा सत्ता में नहीं आएगी।”

https://www.youtube.com/watch?v=6_e4Vr6vqdk

मायावती के इस बयान पर पलटवार करते हुए सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि अगर मायावती को ईवीएम पर शक है तो वो अपने मेयर प्रत्याशियों से इस्तीफा दिलवाएं हम उन दो सीटों पर बैलेट से चुनाव करवा देंगे। अब योगी आदित्यनाथ के इस बयान पर दहला जमाते हुए मायावती ने भाजपा और योगी सरकार को पहले से भी कड़ी चुनौती दे दी है। योगी रविवार शाम भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में नवनिर्वाचित 14 महापौर के अभिनंदन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

https://www.youtube.com/watch?v=2sC5RhMVjrk

मायावती ने पार्टी कार्यालय से जारी किए गए अपने बयान में कहा है कि सिर्फ अलीगढ़ और मेरठ की सीटों पर ही क्यों… भाजपा मेयर के सभी 16 पदों पर बैलेट पेपर से चुनाव कराए तो उनकी असलियत सामने आ जाएगी।

मायावती ने कहा कि नगर पालिका व नगर पंचायत में जहां-जहां बैलेट पेपर से चुनाव हुए हैं भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है और जहां ईवीएम से मतदान हुआ वहां भाजपा को जीत मिली है। इसी से पता चलता है कि भाजपा ने ईवीएम ने धांधली कर जीत हासिल की है।

https://www.youtube.com/watch?v=wyNbzqOK11o&t=241s

वहीं, उन्होंने योगी के बयान को चोरी और ऊपर से सीना जोरी करार दिया है। उन्होंने सवाल किया कि जहां बैलेट पेपर से मतदान हुआ वहां भाजपा क्यों पिछड़ गई? इससे साफ है कि मेयर के चुनाव में ईवीएम के माध्यम से धांधली के कारण भाजपा की जीत हुई है न कि जनसमर्थन के कारण।

Latest अपडेट के लिए National Dastak पेज को Like और Follow करे

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved