National Dastak

x

आचार संहिता का सरेआम उलंघन कर रहे समाजवादी स्मार्टफोन के पोस्टर

Created By : एजेंसिया Date : 2017-01-10 Time : 13:02:13 PM

आचार संहिता का सरेआम उलंघन कर रहे समाजवादी स्मार्टफोन के पोस्टर

मिर्जापुर। उत्तर प्रदेश में मिर्जापुर जिला प्रशासन की ओर से मतदाता जागरूकता के लिए तैयार कराए जाने वाले रंगोली कार्यक्रम की तैयारियों की बैठक में समाजवादी स्मार्टफोन वितरण योजना का प्रचार किया जा रहा है। अधिकारी बकायदे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की फोटो लगे पोस्टर को बंटवा रहे है। सोमवार को नगर के बीएलजे इंटर कालेज में हुई प्रधानाध्यापकों व अध्यापकों की बैठक में समाजवादी स्मार्टफोन वितरण योजना का पोस्टर भी बांटा गया।


पोस्टर जिला विद्यालय निरीक्षक फूलचंद यादव की तरफ से बंटवाए गए इस पोस्टर पर समाजवादी स्मार्टफोन के लिए पंजीकरण कराने की आखिरी तिथि एवं अन्य सूचनाएं दी गयी है। कुछ अध्यापकों और प्रधानाचार्यों ने आपत्ति भी जतायी पर मामला विभाग के उच्चाधिकारी से जुड़ा होने के कारण वे खुलकर विरोध नहीं पाए। शासन से आचार संहिता लागू होने से सप्ताह भर पूर्व सभी जिलों के अधिकारियों को समाजवादी स्मार्टफोन वितरण के लिए अधिक से अधिक युवक-युवतियों का रजिस्ट्रेशन कराने का निर्देश भेजा था। 

 

पढ़ें- यूपी चुनाव: भाजपा में उठने लगे बगावत के सुर, केंद्रीय मंत्री को दिखाए गए काले झंडे

 

शासन के निर्देश पर डीएम ने जिले के अफसरों की बैठक लेने के बाद लक्ष्य का आवंटन कर दिया। जिला विद्यालय निरीक्षक को सर्वाधिक 50 हजार छात्र-छात्राओं का रजिस्ट्रेशन विभिन्न स्कूलों के माध्यम से कराना था पर इस बीच चार जनवरी को निर्वाचन आयोग ने विस चुनाव की तिथियों का ऐलान कर दिया। इसी के साथ जिले में भी आचार संहिता लागू हो गयी, पर शासन से दिए गए पंजीकरण के लक्ष्य को पूरा करने के लिए डीआईओएस को मजबूरन अध्यापकों और प्रधानाचार्यों को स्मार्टफोन वितरण योजना का निर्देश लिखा पोस्टर बंटवाना पड़ रहा है। उप निर्वाचन अधिकारी विजय बहादुर सिंह ने कहा कि इस संबंध में हमें जानकारी नहीं है। यदि ऐसा है तो मामले की जांच कराके कार्रवाई की जाएगी।

 


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Related News
Latest News

चुनाव आयोग से मुलायम सिंह को झटका, अखिलेश को मिली ‘साइकिल’

'दंगल गर्ल' जायरा वसीम खान के समर्थन में आए लोग, ट्रोलर्स को हड़काया

समाजवादी पार्टी के दो-दो अध्यक्ष?

'शिक्षा कोई कमोडिटी नहीं है'

सड़क सुरक्षा मामले में सुप्रीम कोर्ट की राज्यों को कड़ी फटकार

प्रोटीन की कमी से बढ़ता है डिप्रेशन, हो सकता है गर्भावस्था के लिए खतरनाक

जोड़ियां बनाने में मर्दवादी क्यों है ईश्वर?

महबूबा मुफ्ती से मुलाकात के बाद दंगल गर्ल जायरा खान ने मांगी मांफी

लेनोवो स्मार्टफोन की कीमतों में हुई 3 हजार रुपए की गिरावट

छात्र निष्काशन मामले में आईआईएमसी के डीजी का अजीब तर्क

'हनुमान चालीसा' के सहारे इस हाइवे पर सफर करते हैं लोग

IIMC के निष्काषित छात्र की मां ने लिखी DG के नाम चिट्ठी