National Dastak

x

मुस्लिमों को प्रताड़ित कर संघ के एजेंडे पर काम कर रहे अखिलेश यादव- रिहाई मंच

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2017-01-04 Time : 16:41:23 PM

मुस्लिमों को प्रताड़ित कर संघ के एजेंडे पर काम कर रहे अखिलेश यादव- रिहाई मंच

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी द्वारा निकाली गई पत्रिका नई उमंग के जरिए सपा द्वारा मुसलमानों को बरगलाने का आरोप लगाते हुए रिहाई मंच ने समाजवादी पार्टी पर जमकर हमला बोला है। रिहाई मंच ने विज्ञप्ति जारी कर कहा कि मुलायम सिंह और अखिलेश यादव ने समाजवाद की आड़ में हमेशा संघवाद को बढावा दिया। समाजवादी सरकार के मुखिया और अखिलेश ने साम्प्रदायिक संगठनों को मजबूत किया। कोशीकलां से मुजफ्फरनगर, फैजाबाद, बरेली, आजमगढ़, बहराईच समेत प्रदेश भर में मुस्लिम समाज को कुचलने, बेगुनाह मुस्लिम नवयुवकों को दहशतगर्दी के आरोपों से बरी कराने के वादों के उलट मौलाना खालिद मुजाहिद की राज्य द्वारा हत्या को अंजाम दिया गया।

 

पढ़ें- इतिहासकार इरफान हबीब ने RSS से पूछा आजादी में योगदान, करा दी गई FIR

 

तमाम गुनाहगार पुलिस कर्मियों समेत आईपीएस विक्रम सिंह बृजलाल व आईबी के अधिकारियों को राज्य द्वारा संरक्षण दिया गया। मुजफ्फरनगर के दोषी भाजपा नेताओं समेत संघी व समाजवादी गुण्डों को सरकारी सुरक्षा मुहैया कराई गई। भाजपा सांसद वरुण गांधी को बचाने के लिये मुलायम के खास और अखिलेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री हाजी रियाज के गवाहों को धमकी व गवाही से पलटने की साजिशों का काला चिटठा सामने आ चुका है। दादरी में अखलाक की नृशंस हत्या करने वाली भीड़ का नेतृत्व करने वाले अपराधी की प्राकृतिक मौत पर 25 लाख नौकरी व तिरंगा पहनाने वाली सपा सरकार द्वारा अखलाक के परिवार के खिलाफ मुकदमा लिखा जाना साबित करता है कि अखिलेश सरकार पूरी तरह से संघ के एजेंडे पर काम कर रही है।

 

पढ़ें- रोहित वेमुला की सांस्थानिक हत्या का तोहफा! पीएम ने अप्पाराव को मिलेनियम अवार्ड से नवाजा


पश्चिम बंगाल के बेगुनाह मुस्लिम नवयुवक, जो कि 8 साल 7 माह की कैद के बाद अदालत द्वारा बाईज्जत बरी किए गये थे, सपा सरकार ने उनके खिलाफ हाईकोर्ट में अपील कर गिरफ्तारी वारंट जारी करवाकर पूरी तरह संघ का समर्थन किया। 

 

पढ़ें- अत्याचार के विरुद्ध आवाज बुलंद करने वाले सचिन माली और उनके साथियों को मिली बेल


2 नंवबर को भोपाल में जेलब्रेक के आरोप लगा कर शिवराज सिंह सरकार द्वारा फर्जी मुठभेड़ में गई सामुहिक हत्या का विरोध करने पर रिहाई मंच के नेता राजीव यादव व शकील कुरैशी की अखिलेश सरकार की पुलिस ने मारपीट करके बुरी तरह से जख्मी कर दिया। इसके बावजूद पुलिस ने हजरत गंज कोतवाली में मुकदमा कायम करके सपा सरकार के दोहरे चरित्र का भोंडा प्रर्दशन किया। 

 


नजीब अहमद की गुमशुदगी के विरोध में एबीवीपी व केंद्र सरकार का विरोध कर रहे अलीगढ़ विश्वविधालय छात्र संघ के छात्रों पर भंयकर लाठीचार्ज और 700 छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाना साबित करता है कि अखिलेश सरकार भाजपा संघ मोदी की साम्प्रदायिक नीतियों के साथ है। सपा सरकार की जनविरोधी साम्प्रदायिक नीतियों के खिलाफ रिहाई मंच लगातार संघर्ष कर रहा है। 

 

 

 


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

चुनाव आयोग से मुलायम सिंह को झटका, अखिलेश को मिली ‘साइकिल’

'दंगल गर्ल' जायरा वसीम खान के समर्थन में आए लोग, ट्रोलर्स को हड़काया

समाजवादी पार्टी के दो-दो अध्यक्ष?

'शिक्षा कोई कमोडिटी नहीं है'

सड़क सुरक्षा मामले में सुप्रीम कोर्ट की राज्यों को कड़ी फटकार

प्रोटीन की कमी से बढ़ता है डिप्रेशन, हो सकता है गर्भावस्था के लिए खतरनाक

जोड़ियां बनाने में मर्दवादी क्यों है ईश्वर?

महबूबा मुफ्ती से मुलाकात के बाद दंगल गर्ल जायरा खान ने मांगी मांफी

लेनोवो स्मार्टफोन की कीमतों में हुई 3 हजार रुपए की गिरावट

छात्र निष्काशन मामले में आईआईएमसी के डीजी का अजीब तर्क

'हनुमान चालीसा' के सहारे इस हाइवे पर सफर करते हैं लोग

IIMC के निष्काषित छात्र की मां ने लिखी DG के नाम चिट्ठी