Switch to English

National Dastak

x

मोदी के कब्जे में रिजर्व बैंक- अमर्त्य सेन

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2017-01-11 Time : 19:17:48 PM


मोदी के कब्जे में रिजर्व बैंक- अमर्त्य सेन

नई दिल्ली। देश भर में नोटबंदी की आलोचना हो रही है। भारत के साथ पूरी दुनिया के अर्थशास्त्री नोटबंदी की आलोचना कर चुके हैं। भारतीय रिजर्व बैंक के दो पूर्व गवर्नर वाई वी रेड्डी और बिमल जालान के बाद नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अमर्त्य सेन ने भी केन्द्रीय बैंक की स्वायत्तता पर सवाल उठाए हैं।

 

एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि नोटबंदी कालाधन को सिस्टम से हटाने में असफल रहा है, हालांकि मोदी को संदेह का लाभ मिलता रहेगा। लोग सोच रहे हैं कि प्रधानमंत्री कालाधन खत्म करने के लिए कुछ कर रहे हैं। इसी संदेह का लाभ मोदी को मिलता रहेगा। यह विचार है कि धनी लोगों को दिक्कत हो रही है, गरीबों को भा रहा है। उन्होंने नोटबंदी की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि आजकल बैंक कोई फैसले नहीं करता, सभी निर्णय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करते हैं।

 

पढ़ें: मोदीजी की नोटबंदी ने भारतीय अर्थव्यवस्था को गर्त में धकेल दिया- अमेरिकी अखबार

 

 

सेन ने आगे कहा कि रघुराम राजन के कार्यकाल में आरबीआई काफी स्वतंत्र था। उसके लिए आई जी पटेल और मनमोहन सिंह जैसे अच्छे लोगों ने काम किया है। इससे पहले रेड्डी और जालान भी रिजर्व बैंक की स्वायत्ता बचाए रखने पर जोर दे चुके हैं।

 


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

माओवादियों ने जारी किया ऑडियो, कहा- आदिवासी महिलाओं की इज्‍जत लूटने का बदला लिया

योगीराजः आठवीं की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म कर रोड पर छोड़ा

वारसा विश्वविद्यालय में 'भारतीय लोकतंत्र के सात दशक' पर बोले उप-राष्ट्रपति

JNU को बदनाम करने वाली वेबसाइट्स के खिलाफ छात्रों ने दर्ज कराई शिकायत

मोदी राज: 'डिजिटल इंडिया' के दौर में चिप लगाकर करते थे पेट्रोल चोरी

गवर्नमेंट की गलत पॉलिसी की वजह शहीद हुआ बेटा- कैप्टन आयुष यादव के पिता

BJP सांसद ने पुलिस अधिकारी को दी खाल उतरवाने की धमकी

बढ़ी मुश्किलें: बंबई हाईकोर्ट ने 'राधे मां' के खिलाफ बयान दर्ज करने के दिए आदेश

डीजीसीईआई ने पकड़ी 15,047 करोड़ रुपये की कर चोरी

योगीराजः आठ साल गैरहाजिर रहे सिपाही का हो गया प्रमोशन

गोरखपुर: समाधि लेने पहुंचे 'ढोंगी बाबा' को पुलिस ने पकड़ा

इन दलित छात्रों ने साबित कर दिया कि टैलेंट सवर्णों की जागीर नहीं