National Dastak

x

मोदी के कब्जे में रिजर्व बैंक- अमर्त्य सेन

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2017-01-11 Time : 19:17:48 PM

मोदी के कब्जे में रिजर्व बैंक- अमर्त्य सेन

नई दिल्ली। देश भर में नोटबंदी की आलोचना हो रही है। भारत के साथ पूरी दुनिया के अर्थशास्त्री नोटबंदी की आलोचना कर चुके हैं। भारतीय रिजर्व बैंक के दो पूर्व गवर्नर वाई वी रेड्डी और बिमल जालान के बाद नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अमर्त्य सेन ने भी केन्द्रीय बैंक की स्वायत्तता पर सवाल उठाए हैं।

 

एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में उन्होंने कहा कि नोटबंदी कालाधन को सिस्टम से हटाने में असफल रहा है, हालांकि मोदी को संदेह का लाभ मिलता रहेगा। लोग सोच रहे हैं कि प्रधानमंत्री कालाधन खत्म करने के लिए कुछ कर रहे हैं। इसी संदेह का लाभ मोदी को मिलता रहेगा। यह विचार है कि धनी लोगों को दिक्कत हो रही है, गरीबों को भा रहा है। उन्होंने नोटबंदी की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि आजकल बैंक कोई फैसले नहीं करता, सभी निर्णय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करते हैं।

 

पढ़ें: मोदीजी की नोटबंदी ने भारतीय अर्थव्यवस्था को गर्त में धकेल दिया- अमेरिकी अखबार

 

 

सेन ने आगे कहा कि रघुराम राजन के कार्यकाल में आरबीआई काफी स्वतंत्र था। उसके लिए आई जी पटेल और मनमोहन सिंह जैसे अच्छे लोगों ने काम किया है। इससे पहले रेड्डी और जालान भी रिजर्व बैंक की स्वायत्ता बचाए रखने पर जोर दे चुके हैं।

 


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

चुनाव आयोग से मुलायम सिंह को झटका, अखिलेश को मिली ‘साइकिल’

'दंगल गर्ल' जायरा वसीम खान के समर्थन में आए लोग, ट्रोलर्स को हड़काया

समाजवादी पार्टी के दो-दो अध्यक्ष?

'शिक्षा कोई कमोडिटी नहीं है'

सड़क सुरक्षा मामले में सुप्रीम कोर्ट की राज्यों को कड़ी फटकार

प्रोटीन की कमी से बढ़ता है डिप्रेशन, हो सकता है गर्भावस्था के लिए खतरनाक

जोड़ियां बनाने में मर्दवादी क्यों है ईश्वर?

महबूबा मुफ्ती से मुलाकात के बाद दंगल गर्ल जायरा खान ने मांगी मांफी

लेनोवो स्मार्टफोन की कीमतों में हुई 3 हजार रुपए की गिरावट

छात्र निष्काशन मामले में आईआईएमसी के डीजी का अजीब तर्क

'हनुमान चालीसा' के सहारे इस हाइवे पर सफर करते हैं लोग

IIMC के निष्काषित छात्र की मां ने लिखी DG के नाम चिट्ठी