Switch to English

National Dastak

x

CBSE ने खत्म किया 9वीं और 11वीं में किताब खोलकर परीक्षा देने का नियम

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2017-02-04 Time : 18:54:50 PM


CBSE ने खत्म किया 9वीं और 11वीं में किताब खोलकर परीक्षा देने का नियम


नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानि सीबीएसई ने कक्षा 9वीं और 11वीं में किताब खोलकर परीक्षा देने के नियम को लागू करने के दो साल बाद इस नियम को अब वापस ले लिया है। बोर्ड ने कहा कि इस साल से छात्र परीक्षा केंद्र में किताबें लेकर नहीं जा सकेंगे। बोर्ड का कहना है कि इससे छात्रों की महत्वपूर्ण क्षमताओं के विकास में बाधा आती है। बोर्ड अधिकारियों ने कहा कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने खुली किताब आधारित मूल्यांकन (ओटीबीए) को हटाने का फैसला किया है क्योंकि इस व्यवस्था को लेकर स्कूलों से नकारात्मक प्रतिक्रिया आ रही थी।

 

 

पढ़ें- नर्सरी दाखिले में निजी स्कूलों के मनमाने मानदंड को लेकर शिक्षा मंत्री ने दिया नोटिस

 

बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि विभिन्न हितधारकों से चर्चा के आधार पर बोर्ड ने साल 2017-18 के सत्र से नौंवी और ग्यारहवीं की शिक्षा योजना से ओटीबीए योजना हटाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि हमें स्कूलों से फीडबैक मिल रहा था कि इस व्यवस्था से छात्रों के विकास और अहम क्षमताओं में बाधा आ रही है। साल 2014 में सीबीएसई ने ओटीबीए को कक्षा नौवीं में वार्षिक परीक्षा में हिंदी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान के लिए लागू किया था जबकि ग्यारहवीं के कुछ विषयों जैसे अर्थशास्त्र, जीवविज्ञान और भूगोल की वार्षिक परीक्षा में भी ये व्यवस्था लागू थी।

 

 

ओटीबीए में छात्रों को पाठ्य सामग्री चार महीने पहले ही उपलब्ध करा दी जाती थी और उन्हें मामले में अपने अध्ययन को परीक्षा में साथ ले जाने की इजाजत रहती थी। छात्रों को इस बात की छूट रहती थी कि परीक्षा में सवालों का उत्तर लिखते समय वो अपने नोट्स या किताबों की मदद ले सकते थे।


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

अंतर-राज्‍य परिषद की स्‍थायी समिति की 11वीं बैठक की अध्‍यक्षता करेंगे राजनाथ

यूपी में शराबबंदी आंदोलन, योगी सरकार क्या करेगी

मनोज सिन्हा और बृजेश करा सकते हैं मेरी हत्या- मुख्तार अंसारी

महिला होने की वजह से भारत में मेरी मां को जज नहीं बनने दियाः US डिप्लोमैट निक्की हेली

सरकार ने माना, औरत को मर्दों से कम मिलता है वेतन

मोदी सरकार ने माना: फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाकर सवर्णों ने लूटीं हजारों नौकरियां, देखिए सबूत

यूपी पुलिस बूचड़खाने बंद कराने में व्यस्त ! छेड़खानी पर कार्रवाई न होने से युवती ने की आत्महत्या

सनसनीखेज खुलासा: तो इसलिए स्टूडेंट्स की सीटें खा गई भारत सरकार

मोदी-योगी के नाम पर थानों का 'निरीक्षण'  करने पहुंचे विधायक के बेटे

मुस्लिमों के रोजगार को लेकर ममता बनर्जी ने यूपी सरकार पर साधा निशाना

अफ्रीकी छात्रों पर हमले को लेकर AASI नाराज, अफ्रीकी संघ से करेगी भारत के साथ व्यापार कटौती की मांग

राजनीतिक मुद्दों को छोड़ गंगा सफाई की बात करें यूपी सरकारः NGT