National Dastak

x

दलित लड़की की मुहिम के आगे झुकी मोदी सरकार, बदला गांव का 'गंदा' नाम

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2017-01-08 Time : 13:32:42 PM

दलित लड़की की मुहिम के आगे झुकी मोदी सरकार, बदला गांव का 'गंदा' नाम

फतेहबाद। हरियाणा के फतेहबाद जिले में एक गांव का नाम बेहद शर्मिंदगी भरा है। गांव की एक दलित लड़की को गांव का यह नाम इतना खला की उसने खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इस मसले को उठाया। जिसके बाद पीएमओ कार्यालय ने मामले को संज्ञान में लेते हुए राज्य सरकार से नाम बदलने को कहा।

 

अब राज्य सरकार ने इस संबंध में प्रस्ताव पास कर दिया है और जल्द ही गांव का नाम बदल जाएगा।

 

 

पढ़ें-भाजपा सरकार में पुलिसवालों ने किया 16 आदिवासियों महिलाओं का रेप


बता दें कि 27 सालों से जो काम गांव की पंचायत नहीं कर सकी, वह आठवीं क्लास में पढ़ने वाली 14 साल की इस दलित लड़की ने कर दिखाया। हरियाणा के फतेहाबाद जिला हेडक्वाटर से करीब 50 किलोमीटर दूर पंजाब-हरियाणा बॉर्डर से सटे गांव 'गंदा' के नाम को कई सालों से ग्रामीण बदलने को लेकर कई बार प्रशासन और सरकार से गुहार लगा चुके थे लेकिन प्रशासन ने कभी भी इस बारे ध्यान नही दिया। जिसके बाद हरप्रीत कौर नाम की इस दलित लड़की ने दिसंबर, 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर बताया कि कैसे उसके गांव के लोगों को गांव के नाम की वजह से शर्मिंदा होना पड़ता है। 

 


जिसके बाद पिछले हफ्ते राज्य सरकार ने गांव का नाम बदलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी और फाइनल मंजूरी के लिए इसे गृह मंत्रालय भेज दिया है। अब गांव के सभी लोग बहुत खुश हैं। गांव के सरपंच लखविंदर राम का कहना है कि उन्हें हरप्रीत कौर पर गर्व है और वह 26 जनवरी को उसे सम्मानित करेंगे। हालांकि हरप्रीत इतने से ही संतुष्ट नहीं है। वह अपने गांव में गर्ल्स स्कूल और पशु चिकित्सालय के चारों ओर बाउंड्री वॉल बनवाना चाहती है। हरप्रीत का कहना है कि कुछ अराजक लोग उसके स्कूल की जमीन में अतिक्रमण करते रहते हैं जिससे स्कूल की पढ़ाई में बाधा होती है, इसलिए वह चाहती है कि उसके स्कूल की बाउंड्री कराई जाए।


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

चुनाव आयोग से मुलायम सिंह को झटका, अखिलेश को मिली ‘साइकिल’

'दंगल गर्ल' जायरा वसीम खान के समर्थन में आए लोग, ट्रोलर्स को हड़काया

समाजवादी पार्टी के दो-दो अध्यक्ष?

'शिक्षा कोई कमोडिटी नहीं है'

सड़क सुरक्षा मामले में सुप्रीम कोर्ट की राज्यों को कड़ी फटकार

प्रोटीन की कमी से बढ़ता है डिप्रेशन, हो सकता है गर्भावस्था के लिए खतरनाक

जोड़ियां बनाने में मर्दवादी क्यों है ईश्वर?

महबूबा मुफ्ती से मुलाकात के बाद दंगल गर्ल जायरा खान ने मांगी मांफी

लेनोवो स्मार्टफोन की कीमतों में हुई 3 हजार रुपए की गिरावट

छात्र निष्काशन मामले में आईआईएमसी के डीजी का अजीब तर्क

'हनुमान चालीसा' के सहारे इस हाइवे पर सफर करते हैं लोग

IIMC के निष्काषित छात्र की मां ने लिखी DG के नाम चिट्ठी