Switch to English

National Dastak

x

मच्छर के काटने से मौत, कर सकते है बीमा क्लेम!

Created By : एजेंसिया Date : 2017-01-03 Time : 16:00:54 PM


मच्छर के काटने से मौत, कर सकते है बीमा क्लेम!

नई दिल्ली। अकसर अपनी सेहत को ध्यान में रखते हुए लोग अपनी बीमा जरूर करवाते है। लेकिन अगर आपने भी अपना बीमा करवा रखा है तो आपके लिेए एक खबर है। जी हां, अब मच्‍छर के काटने पर होने वाली बीमारी से मौत होने पर भी आप बीमा क्लेम कर सकते हैं। हाल ही में ये आदेश जारी किया गया है। जानिए, क्या है ये नया रूल।

 

बता दें कि बीमा धारकों को लाभान्वित करने वाली एक व्यवस्था के तहत राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग ने कहा है कि मच्छर काटने से मलेरिया के शिकार व्यक्ति की मौत एक दुर्घटना है।

 

 

इस मामले को लेकर न्यायमूर्ति वी के जैन ने कहा कि यह स्वीकार करना हमारे लिए मुश्किल है कि मच्छर के काटने की वजह से हुई मौत दुर्घटना से हुई मौत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि इस बात में बमुश्किल कोई विवाद हो सकता है कि मच्छर का काटना ऐसी चीज है जिसकी किसी को उम्मीद नहीं होती और अचानक हो जाती है।

 

आयोग ने कहा कि बीमा कंपनी की वेबसाइट पर उपलब्ध सूचना के अनुसार दुर्घटना में सांप का काटना और कुत्ते का काटना जैसी घटनाएं शामिल हो सकती हैं। ऐसे में यह दलील हजम करने में बड़ी मुश्किल है कि मच्छर के काटने से हुई मलेरिया बीमारी है न कि एक एक दुर्घटना।

 

आपको बता दें कि यह आदेश मौसमी भट्टाचार्य के बीमा दावे पर आया है जिनके पति देबाशीष की जनवरी, 2012 में मौत हो गयी थी। देबाशीष ने बैंक ऑफ बड़ौदा से होमलोन लिया और नेशनल इश्योरेंस कंपनी से बीमा पॉलिसी ली थी। बीमित राशि उनकी मौत होने पर देय थी। मौसमी जब अपना होम लोन खत्म करवाने बीमा कंपनी के पास पहुंचीं तब उनका दावा खारिज कर दिया गया।

 


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

शर्मनाक: योगी आदित्यनाथ के जाते ही बच्चों से छीन लिया गया 'बस्ता'

MP गजब हैः शाही शादी में करीब 400 सरकारी टीचर्स को बना दिया वेटर

सनसनीखेज: BSP नेता और उसके पूरे परिवार की हत्या, सबको जमीन में दफनाया

योगी सरकार को मीट कारोबारियों ने दी खुली चेतावनी, जानकर होश उड़ जाएंगे...

योगी सरकार में केशव प्रसाद मौर्य भी हैं जुल्म-ज्यादती के शिकार: मायावती

सड़क मार्ग से सहारनपुर जा रहीं मायावती, नेशनल दस्तक पर देखिए हर मिनट का अपडेट

मेरठः रोजी-रोटी को तरस रहे मीट विक्रेताओं ने किया भूख हड़ताल

सहारनपुर: चार बार उत्तर प्रदेश की CM रहीं मायावती को क्यों नहीं दी गई हेलिपैड की परमीशन?

बहनजी के 'हेलीकॉप्टर' से मोदी और योगी को क्यों लगता है डर ?

बहनजी सड़कमार्ग से सहारनपुर रवाना, सहारनपुर में जबरदस्त तैयारी

बहनजी ने खुद खोला राज, क्यों देर से जा रही हैं सहारनपुर

पत्थरबाजों की जगह जीप पर अरुंधति रॉय को बांधा जाना चाहिए: परेश रावल