Switch to English

National Dastak

x

सर, मेरा नोट बदल दीजिए...दरवाजे पर बहू की लाश पड़ी है, फिर भी नहीं बदले नोट

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2016-11-11 Time : 11:54:38 AM


सर, मेरा नोट बदल दीजिए...दरवाजे पर बहू की लाश पड़ी है, फिर भी नहीं बदले नोट

नई दिल्ली। जब से पीएम मोदी ने 500 और 1000 के नोट को बंद कर नये नोट लाने का फैसला लिया है तब से आम लोगों को खासा परेशानी झेलनी पड़ रही है। बैंको के बाहर लंबी कतारे लगी है इसके साथ ही एटीएम के बाहर भी लोगों के लंबी लाइन देखने को मिल जाएगी।

 

पीएम मोदी के फैसले से उन लोगों को सबसे ज्यादा परेशनी हो रही है जिनको पढ़ाना और लिखना नहीं आता, जिसकी वजह से वह पैसे ना तो निकला पा रहे ना ही बैंक में जमा कर पा रहे है। ऐसा ही कुछ देखने को मिला बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के सरैया इलाके में जहां एक वृद्धा अपनी मृत बहू के कफन के लिए बैंक में पैसे बदलवाने के लिए गई लेकिन उसके पैसे नहीं बदले।

 

ये भी पढ़ेः चेंज पैसे न होने की वजह से रेप पीड़िता बच्ची को नहीं मिली एंबुलेंस

 

घटना गुरुवार की दोपहर 12.35 बजे की है जहां 70 साल की एक वृद्धा एसबीआई की रेड क्रॉस शाखा में पहुंचीं। उन्होंने नोट बदलने के लिए काउंटर पर पहुंचकर गुहार लगाई कि सर, मेरा नोट बदल दीजिए। दरवाजे पर बहू की लाश पड़ी है। मेरे पास कफन खरीदने के लिए भी पैसे नहीं हैं। लेकिन वहां पर उनसे फॉर्म भर कर पहचान पत्र के साथ कतार में लगने के लिए कहा गया। वृद्धा पढ़ी-लिखी नहीं थी जिसके कारण वह फॉर्म नहीं भर सकीं। 

 

 

क्यों नहीं चेंज हो सका नोट

बैंक में काफी भीड़ होने के कारण वृद्धा ने कई लोगों से फॉर्म भर देने की गुहार लगाई। लेकिन, किसी ने उनकी बात नहीं सुनी। जब किसी ने उनकी कोई बात ना सूनी तो वह थक-हार कर करीब 10 मिनट बाद बैंक के चीफ मैनेजर के चैंबर में दाखिल हो गईं। वृद्धा ने मैनेजर सीपी श्रीवास्तव के सामने एक-एक हजार के पांच नोट रखते हुए हाथ जोड़ अपनी गुहार लगाई। साथ ही रुपये जल्दी बदल देने को कहा।

 

ये भी पढ़ेः भाजपाई मंत्री के हॉस्पिटल ने नहीं ली हजार की नोट, बच्ची की मौत

 

पहचान पत्र नहीं होने से नहीं बदले नोट
फॉर्म सादा देख कर वृद्धा को उसे भरने के लिए कहा गया। मैनेजर के पास बैठे एक सज्जन ने कफन की बात सुन कर उनका फॉर्म भर दिया। महिला ने अपना नाम किष्किंधा देवी व घर सरैया बताया। साथ ही कहा कि वह सपरिवार शहर के ब्रह्मपुरा में ही रहती हैं। बहू बीमार थी। किडनी खराब होने के कारण उसकी मौत हो गई है।

 

 

इसी बीच फॉर्म भर दिए जाने के बाद मैनेजर ने वृद्धा से पहचान पत्र मांगा। उन्होंने कहा कि वोटर आई कार्ड घर पर है। चीफ मैनेजर ने पहचान पत्र पास में नहीं होने के कारण सौ-सौ के नोट देने से इंकार कर दिया। वृद्धा को बैंक से निराश लौटना पड़ा।


 


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

बीजेपी नेता ने उठाया अवैध खनन का मुद्दा, पार्टी ने थमा दिया कारण बताओ नोटिस

बीजेपी की महिला नेता की गुंडई, सिपाही का कॉलर पकड़ा और फिर..

राष्ट्रीय महिला आयोग ने महिलाओं की सुरक्षा और अधिकारों संबंधित राज्य महिला आयोगों के साथ की बैठक 

दूरदर्शन की बनाई 14 लघु फिल्म को सूचना प्रसारण मंत्रालय ने किया जारी 

लखनऊः प्रदेश में जातीय संघर्ष और महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार के खिलाफ छात्रों का हल्ला बोल

ऊंची जाति की लड़की से शादी करने वाले दलित युवक के साथ दरिंदों ने क्या किया, जानकर सहम जाएंगे

मंदिर में महिलाओं के साथ पुजारी करता था ऐसे-ऐसे गंदे कारनामे...

लड़कियों ने मनु और तुलसीदास को दिखाया ठेंगा, बारहवीं में टॉपर

सुशील मोदी के करप्शन पर तेजस्वी यादव का बड़ा खुलासा

भाजपा मंत्री को अस्पताल की हालत अच्छी दिखाने के लिए मरीजों को भगाया

'गाय-चाय और दंगा-गंगा यही हैं मोदी सरकार के तीन साल की उपलब्धि'

डिप्टी सीएम के आने से पहले भाजपा कार्यकर्ताओं ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, पथराव कर दहशत फैलायी

Top News

बीजेपी की महिला नेता की गुंडई, सिपाही का कॉलर पकड़ा और फिर..

ऊंची जाति की लड़की से शादी करने वाले दलित युवक के साथ दरिंदों ने क्या किया, जानकर सहम जाएंगे

लड़कियों ने मनु और तुलसीदास को दिखाया ठेंगा, बारहवीं में टॉपर

सुशील मोदी के करप्शन पर तेजस्वी यादव का बड़ा खुलासा

'गाय-चाय और दंगा-गंगा यही हैं मोदी सरकार के तीन साल की उपलब्धि'

डिप्टी सीएम के आने से पहले भाजपा कार्यकर्ताओं ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, पथराव कर दहशत फैलायी

एक दर्जन से ज्यादा दरिंदों के हाथों नोची जाती इस लड़की का वीडियो देखकर कांप जाएगी आपकी रूह

मुसलमान होने और बीफ खाने के शक पर जेवर की महिलाओं से किया गया बलात्कार?