National Dastak

x

टेम्परेचर कम होने के कारण बढ़ जाता है हार्ट अटैक का रिस्क !

Created By : एजेंसिया Date : 2017-01-11 Time : 17:16:26 PM

टेम्परेचर कम होने के कारण बढ़ जाता है हार्ट अटैक का रिस्क !

नई दिल्ली। सर्दियों में शरीर के टेम्परेचर में गिरावट और विटामिन डी के लेवल में कमी के साथ-साथ ब्‍लड के डार्क होने से हार्ट अटैक का रिस्‍क बढ़ जाता है।

 

इस मामले में एक्‍सपर्ट के का कहना है कि, विंटर्स के दौरान टेम्परेचर में अचानक गिरावट के अलावा, तेज हवा और बारिश अक्सर बॉडी के टेम्परेचर को कम कर देते हैं। इसके कारण ब्‍लडप्रेशर अचानक बढ़ जाता है जिससे हार्ट अटैक का रिस्‍क बढ़ जाता है।

 


इस मामले में हार्ट स्‍पेशलिस्‍ट का कहना है कि 40 वर्ष की उम्र से ऊपर के व्यक्तियों को ऐसे मौसम में हार्ट अटैक का रिस्‍क अधिक होता है। हाई ब्‍लडप्रेशर, मोटापा, बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज या बहुत ज्‍यादा स्‍मोकिंग विंटर्स के दौरान हार्ट अटैक के रिस्‍क को बढ़ा देते हैं।

 


स्पेशलिस्ट ने बताया कि हार्ट अटैक हमेशा वार्निंग के संकेत के साथ नहीं आता है। इसलिए सर्दियों के दौरान नियमित हेल्‍थ चेकअप कराना बहुत जरूरी है। ब्‍लड में ग्लूकोज और कोलेस्ट्रॉल के लेवल का ध्यान रखा जाना चाहिए। इसके अलावा शराब के बहुत ज्‍यादा सेवन और जंक फूड से बचना चाहिए।

 

 


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

चुनाव आयोग से मुलायम सिंह को झटका, अखिलेश को मिली ‘साइकिल’

'दंगल गर्ल' जायरा वसीम खान के समर्थन में आए लोग, ट्रोलर्स को हड़काया

समाजवादी पार्टी के दो-दो अध्यक्ष?

'शिक्षा कोई कमोडिटी नहीं है'

सड़क सुरक्षा मामले में सुप्रीम कोर्ट की राज्यों को कड़ी फटकार

प्रोटीन की कमी से बढ़ता है डिप्रेशन, हो सकता है गर्भावस्था के लिए खतरनाक

जोड़ियां बनाने में मर्दवादी क्यों है ईश्वर?

महबूबा मुफ्ती से मुलाकात के बाद दंगल गर्ल जायरा खान ने मांगी मांफी

लेनोवो स्मार्टफोन की कीमतों में हुई 3 हजार रुपए की गिरावट

छात्र निष्काशन मामले में आईआईएमसी के डीजी का अजीब तर्क

'हनुमान चालीसा' के सहारे इस हाइवे पर सफर करते हैं लोग

IIMC के निष्काषित छात्र की मां ने लिखी DG के नाम चिट्ठी