Switch to English

National Dastak

x

प्रेमी जोड़े को निर्वस्त्र घुमाने का मामला: युवती को जिंदा जलाने की धमकी, 80 हजार में बेचा

Created By : आदित्य साहू Date : 2017-04-21 Time : 18:08:49 PM


प्रेमी जोड़े को निर्वस्त्र घुमाने का मामला: युवती को जिंदा जलाने की धमकी, 80 हजार में बेचा

बांसवाड़ा। भाजपा शासित राजस्थान जिले के शंभूपुरा गांव में प्रेमी युगल के साथ मारपीट करने और दोनों को निर्वस्त्र कर ढोल-नगाड़ों के साथ गांव में घुमाने के मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। खबर के अनुसार जब निर्वस्त्र करने की आमनवीय घटना के बाद भी लोगों का मन नहीं भरा तो युवती को दूसरी शादी (नातरे) के लिए 80 हजार में सौदा कर दिया। यहां तक कि युवती और उसके परिजनों को जिंदा जला डालने की धमकी तक दे डाली।


पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने बताया कि कलिंजरा थाना क्षेत्र की पाटन पंचायत के शंभुपुरा निवासी युवक ने पुलिस को दिए बयानों में बताया कि युवती की मां ने मारपीट की थी। इस बात से दुखी होकर वह 22 मार्च को अपनी मर्जी से युवक के साथ भागी।

 

पढ़ें- क्या यही है वसुंधरा सरकार का न्याय, प्रेमी जोड़े को गांव में नंगा कर घुमाया


वहां से युवती को सल्लोपाट थाना क्षेत्र के डालर गांव मौसी के घर ले चला गया। वहां 15-20 दिन रहने के बाद युवती के परिजन को इसकी जानकारी लग गई। सीआई रवींद्र सिंह ने बताया कि 16 अप्रैल को गांव के आपू पुत्र सुखराम डामोर, सरदार पुत्र सामा, मावजी पुत्र जीवणा हाड़ा, सुखराम पुत्र जीवणा अपनी मोटरसाइकिलों से आए और युवक-युवती को अपने साथ लेकर मलवासा आए।

 


वहां से शंभूपुरा पहुंचे जहां हाई स्कूल के पास ले जाकर दोनों के साथ मारपीट शुरू कर दी। जहां प्रभु पुत्र हवजी तथा आपू पुत्र देवा ने दोनों के कपड़े उतरवाए और दोनों को निर्वस्त्र कर दिया। इसके बाद मारपीट करते हुए पूरे गांव में घुमाया और अश्लील हरकतें की।


इन सब के साथ गांव के अन्य लोगों ने भी मारपीट करते हुए अश्लील हरकतें की। इसके बाद युवती के काका उसे वहां से लेकर गए। रात को युवक अपने काका के घर रहा। जबकि युवती को उसके परिजन अपने साथ ले गए। 17 तथा 18 अप्रैल को गांव के कुछ लोगों ने मिलकर भांगजड़ा की बात कही और कहा कि तुम किसी को यह बात बताओगे नहीं। साथ ही युवक के पिता से एक स्टांप मंगवाया गया और दवाब बनाकर आपसी राजीनामा करने की बात कही। इसके बाद 18 अप्रैल को पुलिस घर पहुंची।

 

 

पढ़ें- सीएम योगी के मंत्री ने दिव्यांग सफाई कर्मचारी को सरेआम किया बेइज्जत, कहा लूला-लंगड़ा 


पुलिस ने बताया कि युवक-युवती को निर्वस्त्र करने की दरिंदगी के बाद भी गांव के कुछ लोगों का दिल नहीं पसीजा। उन्होंने युवती को नातरा भेजने का भी प्लान तैयार कर लिया। इसके बारे में जब युवती से कहा गया तो उसने इनकार कर दिया। इस पर ग्रामीणों ने कहा कि अगर नातरा जाने से इनकार किया तो तुझे जिंदा जला देंगे। इस पर युवती का 80 हजार रुपए में नातरा कर दिया गया। 


जहां से पांच हजार लेने के बाद युवती को गोविंद नाम के युवक के साथ 17 अप्रेल को नातरा भेज दिया गया, लेकिन इससे पहले युवक-युवती के परिजनों से ग्रामीणों ने एक-एक स्टांप भी लिखवाया और कहा गया कि इस पूरी वारदात को भूल जाओ। अगर यहां से बात कहीं बाहर निकली तो इससे भी बुरा हस्र होगा। इसपर घबराए परिजनों ने किसी से इस बात का जिक्र नहीं किया। हालांकि अभी तक पुलिस के पास ग्रामीणों द्वारा लिखवाए गए स्टांप नहीं पहुंचे हैं, जिनकी तलाश में पुलिस लगी हुई है।

 


सीआई रवींद्र ने बताया कि युवती को नातरा भेजने के आरोप में गांव के गोविंद पुत्र गौतम, लड़़की को गांव लाने तथा आरोपितों का साथ देने में बावजी, स्टाम्प की लिखापढ़ी करने के आरोप में दिलीप पुत्र चेतन तथा निर्वस्त्र करने के आरोप में देवा डामोर को गिरफ्तार किया गया है।

 

पढ़ें- यूपी में लगे 'कश्मीरियों यूपी छोड़ो के पोस्टर'


पुलिस के अनुसार, युवक-युवती का दो साल से प्रेम प्रसंग था। इसी दरम्यान युवती का रिश्ता कहीं और तय हो गया। भागने से पहले युवती की मां ने उसके साथ मारपीट कर दी थी। साथ ही युवती के मन में यह बात भी थी कि युवती की मां तथा युवक की मां को ग्रामीण डायन कहकर प्रताड़ित करते थे।


ग्रामीण इन दोनों को अभिशाप मानते थे। इसके चलते युवक-युवती का एक दूसरे से ज्यादा लगाव था। उनका मानना था कि उनको रिश्ता नहीं मिलेगा। इसके चलते युवती के कहने पर युवक उसे भगाकर ले गया। पुलिस के सामने यह भी बात सामने आई है कि डायन के मामले को ग्रमीणों ने पूर्व उनके घरों में तोडफ़ोड़ की वारदात भी की थी। हालांकि अभी यह जांच का विषय है। इस पर पुलिस की जांच जारी है।


वारदात को लेकर पुलिस ने युवक-युवती को नग्न अवस्था में गांव में घुमाने की तस्वीर व वीडियो वायरल होने की पुष्टी पर भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 149,341, 323, 342, 354 ख, 355, 307, 120बी तथा 67 आईटी एक्ट 2000 में प्रकरण दर्ज किया है।

 

पढ़ें- तेजबहादुर यादव को लोकसभा चुनाव में बनाया जाए सर्वदलीय उम्मीदवार- दिलीप मंडल


पुलिस ने बताया कि लोगों ने सुबह से शाम तक प्रेमी युगल को निर्वस्त्र बैठाने के साथ ढोल-नगाड़े के साथ दरिंदगी का माहौल बनाया। सूत्रों के अनुसार युवक-युवती जैसे ही गांव पहुंचे तो पहले तो उनके साथ बुरी तरह लट्ठ एवं चप्पल जूतों से मारपीट की। इसके बाद उन पर कुछ ग्रामीणों ने कपड़े खोलने का दवाब बनाया। इस पर जब उन्होंने कपड़े खोलने से इनकार किया तो ग्रामीणों ने उनके साथ मारपीट कर दी। इसके बाद दोनों को निर्वस्त्र किया और ढोल के साथ उनको गांव के चारों ओर घुमाया गया। सूत्रों के अनुसार इस शर्मशार करने वाले दृश्य को पूरा गांव देखता रहा।


युवक युवती खुद को आजाद करने के लिए मिन्नतें करने लगे। लेकिन आरोपियों का दिल नहीं पसीजा और उन्होंने युवक युवती से मारपीट करना नहीं छोड़ा। आरोपियों की दरिंदगी यहीं नहीं थमी उन्होंने वारदात को कहीं और बताने वालों से भी यही बर्ताव करने का फरमान जारी कर दिया था। इसके चलते डरे सहमे ग्रामीणों ने यह बात किसी को बताई भी नहीं।


दूसरी ओर, इस सनसनीखेज मामले के सामने आते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया है। मामले की तह तक जाने के लिए कलक्टर, एसपी सहित आला अधिकारियों ने गांव तक की दौड़ लगा दी। वहीं, पुलिस से मामले की पड़ताल के लिए कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। युवक-युवती को निर्वस्त्र करने का मामला सामने आने के बाद दूसरे दिन बुधवार को प्रदेशभर में यह चर्चा का विषय बना रहा। मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल तथा पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा सुबह जल्दी महात्मा गांधी चिकित्सालय पहुंचे और युवक की कुशलक्षेप पूछने के बाद पूरी वारदात की जानकारी ली।

 


इसके बाद शंभूपुरा गांव का मौका मुआयना किया। साथ ही बड़ोदिया चौकी पहुंचे जहां करीब एक घंटे तक पूरे प्रकरण पर पुलिस अधिकारियों से चर्चा की और इस ओर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए। पुलिस ने मामले में तत्परता दिखाते हुए युवती को गणाऊ गांव से दस्यतयाब कर उसके पिता सहित चार आरोपियों की गिरफ्तारी की है। वहीं युवती का देर शाम मेडिकल बोर्ड से महात्मा गांधी चिकित्सालय में मेडिकल करवाया गया।


दूसरी ओर पुलिस की गिरफ्तारी के डर से गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है। अधिकांश ग्रामीण गांव छोड़कर अपने रिश्तेदारों के यहां चले गए है। इसके चलते उनके घरों के बाहर ताले लटके हुए हैं। वहीं कुछ लोग बचे हैं वे कुछ भी बताने से कतराते दिखाई पड़े। इसके चलते गांव में पुलिस बल तैनात किया गया है।


(संपादन- भवेंद्र प्रकाश)
 


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

माओवादियों ने जारी किया ऑडियो, कहा- आदिवासी महिलाओं की इज्‍जत लूटने का बदला लिया

योगीराजः आठवीं की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म कर रोड पर छोड़ा

वारसा विश्वविद्यालय में 'भारतीय लोकतंत्र के सात दशक' पर बोले उप-राष्ट्रपति

JNU को बदनाम करने वाली वेबसाइट्स के खिलाफ छात्रों ने दर्ज कराई शिकायत

मोदी राज: 'डिजिटल इंडिया' के दौर में चिप लगाकर करते थे पेट्रोल चोरी

गवर्नमेंट की गलत पॉलिसी की वजह शहीद हुआ बेटा- कैप्टन आयुष यादव के पिता

BJP सांसद ने पुलिस अधिकारी को दी खाल उतरवाने की धमकी

बढ़ी मुश्किलें: बंबई हाईकोर्ट ने 'राधे मां' के खिलाफ बयान दर्ज करने के दिए आदेश

डीजीसीईआई ने पकड़ी 15,047 करोड़ रुपये की कर चोरी

योगीराजः आठ साल गैरहाजिर रहे सिपाही का हो गया प्रमोशन

गोरखपुर: समाधि लेने पहुंचे 'ढोंगी बाबा' को पुलिस ने पकड़ा

इन दलित छात्रों ने साबित कर दिया कि टैलेंट सवर्णों की जागीर नहीं