Switch to English

National Dastak

x

तमिलनाडु के किसानों पर मोदी का मुखौटा पहने शख्स ने बरसाए कोड़े

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2017-04-20 Time : 10:02:14 AM


तमिलनाडु के किसानों पर मोदी का मुखौटा पहने शख्स ने बरसाए कोड़े

नई दिल्ली। कर्ज और सूखे से बेहाल तमिलनाडु के किसान 37 दिनों से दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर रहे हैं। ये किसान केंद्र सरकार से अपने लोन की माफी की मांग कर रहे हैं। चुनावी भाषणों में किसानों की चिंता करने वाले पीएम मोदी सहित सत्तादल इनके दर्द से बिल्कुल बेपरवाह नजर आ रहा है। राष्ट्रीय राजधानी में भाषा इनके आंदोलन के आड़े आ रही है लेकिन ये तरह-तरह से अपना विरोध जता रहे हैं। 


अपने परिजनों के कंकाल गले में लटकाए इन किसानों का कहना है कि उनकी फसल कई बार आए सूखे और चक्रवात में बर्बाद हो चुकी है। किसानों ने उन लोगों को मिलने वाले राहत पैकेज पर भी पुनर्विचार करने के लिए कहा है। किसानों की यह भी मांग है कि उनको अगली साल के लिए बीज खरीदने दिए जाएं और हुए नुकसान की भरपाई की जाए।

 

 

जंतर मंतर पर बैठे तमिलनाडु के किसान अब नए तरीके से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। हाल में उन्होंने एक शख्स को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुखौटा पहनाया और फिर वहां बैठे सारे किसानों पर उससे कोड़े लगवाए। कोड़े मार रहे शख्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुखौटा पहनने के अलावा उनकी तरह के कपड़े भी पहन रखे थे।

 

 

प्रदर्शन कर रहे किसानों ने हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए कहा, ‘हम लोगों को नजरअंदाज करके मोदी ने बता दिया कि वह हम लोगों को दिल्ली से भगाना चाहते हैं, कभी-कभी तो हमें लगता है कि इससे अच्छा तो हम लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाए।’ 

 

 

नेशनल साउथ इंडियन रिवर लिंकिंग फार्मर के प्रदेश अध्यक्ष पी आय्याकन्नू ने कहा कि कोड़े की मार झेलने के लिए 25 किसान अपने आप सामने आए। लेकिन 23 पिटाई की मार को ज्यादा देर झेल नहीं पाए।

 

The farmers of Tamil Nadu ate grass as a symbol of their deteriorating plight, at Jantar Mantar in the national capital.  (Sonu Mehta/HT PHOTO)


किसानों में पीएम मोदी को लेकर खासी नाराजगी है। एक किसान ने कहा कि हम लोग यहां गर्म सड़क पर सो रहे हैं और पीएम एसी वाले कमरे में रहते हैं। कुछ किसानों ने दावा किया कि मोदी किसानों से गुलामों जैसा बर्ताव कर रहे हैं।

 


जंतर मंतर पर बैठे किसान अरुण जेटली, उमा भारती, राजनाथ सिंह, राधा मोहन सिंह से मिल चुके हैं। लेकिन पीएम मोदी से उनकी मुलाकात नहीं हुई है। वे लोग ‘मोदी जी, मोदी जी जंतर मंतर आओ जी’ के नारे लगाते भी देखे गए हैं।

 


ये किसान अपना दर्द व्यक्त करने के लिए कई तरीके आजमा चुके हैं। इनमें जिंदा चूहे मुंह में रखने से लेकर घास खाना, नंगे होकर पीएमओ की तरफ जाना, गर्म सड़क पर नंगे लेटना, आधा सिर मुंडाना और बगैर किसी बर्तन के नीचे सड़क पर परोसकर दाल चावल खाना शामिल है। 

 

संपादन- भवेंद्र प्रकाश


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

माओवादियों ने जारी किया ऑडियो, कहा- आदिवासी महिलाओं की इज्‍जत लूटने का बदला लिया

योगीराजः आठवीं की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म कर रोड पर छोड़ा

वारसा विश्वविद्यालय में 'भारतीय लोकतंत्र के सात दशक' पर बोले उप-राष्ट्रपति

JNU को बदनाम करने वाली वेबसाइट्स के खिलाफ छात्रों ने दर्ज कराई शिकायत

मोदी राज: 'डिजिटल इंडिया' के दौर में चिप लगाकर करते थे पेट्रोल चोरी

गवर्नमेंट की गलत पॉलिसी की वजह शहीद हुआ बेटा- कैप्टन आयुष यादव के पिता

BJP सांसद ने पुलिस अधिकारी को दी खाल उतरवाने की धमकी

बढ़ी मुश्किलें: बंबई हाईकोर्ट ने 'राधे मां' के खिलाफ बयान दर्ज करने के दिए आदेश

डीजीसीईआई ने पकड़ी 15,047 करोड़ रुपये की कर चोरी

योगीराजः आठ साल गैरहाजिर रहे सिपाही का हो गया प्रमोशन

गोरखपुर: समाधि लेने पहुंचे 'ढोंगी बाबा' को पुलिस ने पकड़ा

इन दलित छात्रों ने साबित कर दिया कि टैलेंट सवर्णों की जागीर नहीं