National Dastak

x

आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप में स्मृति ईरानी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2017-01-09 Time : 16:59:14 PM

आचार संहिता का उल्लंघन करने के आरोप में स्मृति ईरानी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

लखनऊ। यूपी चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही भारतीय जनता पार्टी और उसके नेता चुनाव जीतने के लिए तमाम तरह के पैंतरे अपना रहे हैं। तारीखों का ऐलान होती ही प्रदेश में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है लेकिन वोटरों को लुभाने के लिए भाजपा साम, दाम, दंड, भेद हर तरह के पैंतरे अपना रही है। इस काम में छोटे नेता ही नहीं केंद्रीय मंत्री भी लगे हुए हैं। 

 

अभी कुछ दिन पहले भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने वोटों का ध्रुवीकरण करने के लिए मुस्लिमों को लेकर गलतबयानी की थी। लेकिन अब बारी थी केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी की। उन्होंने आचार संहिता का उल्लंघन कर वोटों को अपनी पार्टी के पाले में खींचने का प्रयास किया है।

 

पढ़ें- 'पीएम मोदी ने जेबकतरे की तरह जनता का पैसा ले लिया'

 

दरअसल, केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने अपने एक कार्यक्रम उड़ान के तहत बरेली के कांति कपूर छात्रा इंटर कॉलेज में छात्राओं और महिलाओं की एक सभा बुलाई थी। जिसके बाद इस बुलाई गई सभा को जिला प्रशासन ने आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए इस पर कार्रवाई की। ताज्जुब की बात है कि इस कार्यक्रम के लिए नियमों के मुताबिक कोई इजाजत नहीं ली गई थी। 

 

 

आपको बता दें कि शिक्षण संस्थाओं में इस तरह के कार्यक्रम कराने पर आचार संहिता में पाबंदी भी है। कांति कपूर छात्रा इंटर कॉलेज के सभागार में छात्राओं और भाजपा महिला मोर्चा की महिलाओं की एक संयुक्त बैठक बुलाकर वहां उन्हें उड़ान कार्यक्रम के तहत एलईडी पर स्मृति ईरानी का प्रसारण दिखाया गया था। 

 

पढ़ें- नोटबंदी पर उर्जित पटेल जवाब नहीं दे पाए तो मोदी को तलब करेगी लोक लेखा समिति

 

इस कार्यक्रम में विभिन्न जिलों की छात्राओं और महिलाओं ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए स्मृति ईरानी से सीधे सवाल भी पूछे थे। हालांकि बरेली से किसी छात्रा अथवा महिला ने स्मृति ईरानी से कोई सवाल नहीं पूछा था। इस कार्यक्रम में कपड़ा मंत्री ईरानी ने कई बार भाजपा को विधानसभा चुनाव में वोट देने की अपील भी लोगों से की थी। 

 

 

इसलिए जिला प्रशासन ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना है। जिलाधिकारी पंकज यादव ने इस संबंध में कैंट विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी और जिला विद्यालय निरीक्षक से रिपोर्ट तलब की है। 

 

पढ़ें- बड़ा खुलासा: मोदी की नोटबंदी से मरे सैकड़ों लोग, जब्त हुआ सिर्फ 0.3 प्रतिशत कालाधन

 

जिलाधिकारी का कहना है कि शिक्षण संस्थानों में चुनाव प्रचार करने की आदर्श आचार संहिता में पाबंदी है। चुनाव की घोषणा होने के बाद यहां राजकीय इंटर कॉलेज में लैपटाप बांटने के मामले को भी आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए कोतवाली में प्रथामिकी दर्ज कराई गई है।

 


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

मोहसिन शेख हत्याकांड में मुंबई हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ SC में अपील करेंगे परिजन

पटना में छात्रों ने किया जातिगत-वर्णगत भेदभाव के खिलाफ संघर्ष का ऐलान

रोहित वेमुला को इंसाफ के लिए मार्च निकाल रहे छात्रों पर पुलिस का कहर

नोटबंदी से कालाधन नहीं रुकेगा, जिससे रुकेगा वह सरकार ने किया ही नहीं- रिपोर्ट

भारत में 19 जनवरी को होगा लॉन्च Xiaomi Redmi Note 4

चरखे से हटाने के बाद अब गांधीजी की मूर्तियों की बारी!

मोटापे की गिरफ्त में 76 फीसदी आबादीः शोध

गुजरात लौटते ही मोदी पर हमलावर हुए हार्दिक पटेल

भारतीय मीडिया में फैला है भ्रष्टचारः मीनाक्षी लेखी

नर्सरी दाखिले में निजी स्कूलों के मनमाने मानदंड को लेकर शिक्षा मंत्री ने दिया नोटिस

गोंडा में अपरकास्ट गुंडों का दलितों पर कहर

जल्द आ रही है नई फिल्म 'अलिफ़', प्रेस क्लब में डायरेक्टर से मिलिए