Switch to English

National Dastak

x

सपा के बैंक खाते सीज, चुनाव से पहले 500 करोड़ रुपये अटके

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2017-01-06 Time : 14:24:53 PM


सपा के बैंक खाते सीज, चुनाव से पहले 500 करोड़ रुपये अटके

लखनऊ। समाजवादी पार्टी पर कब्जे की लड़ाई के बीच एक नया मोड़ आ गया है। मुलायम और अखिलेश खेमे में खींचतान के बीच सपा के बैंक खाते फ्रीज कर दिए गए हैं। दिल्ली, लखनऊ, इटावा में कई बैंकों की शाखाओं में सपा के लगभग 500 करोड़ रुपये जमा हैं।

 

अखिलेश खेमे के इस कदम को विधानसभा चुनाव से ठीक पहले मुलायम सिंह यादव व शिवपाल यादव के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। यह खाते तब तक फ्रीज रहेंगे जब तक समाजवादी पार्टी पर इन दोनों में से किसी एक का अधिकार न हो जाए।

 

पढ़ें-परिवारवाद-जुमलावाद नहीं चलेगा, इंसाफ के एजेंडे पर होगा चुनाव- रिहाई मंच


खबरों के मुताबिक, अखिलेश खेमे के एक बड़े नेता के पत्र के बाद बैंकों ने यह कार्रवाई की है। पत्र में उन्होंने लिखा था कि पार्टी ने शिवपाल की जगह नरेश उत्तम को प्रदेश अध्यक्ष बना दिया है और मुलायम सिंह के स्‍थान पर अखिलेश यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया है। इस पत्र के बाद बैंकों ने पार्टी के सारे खाते फ्रीज कर दिए। 


बता दें कि समाजवादी पार्टी के लखनऊ स्थित बैंक आफ इंडिया, केनरा बैंक, स्टेट बैंक, विजया बैंक और यूपी कोऑपरेटिव बैंक की अलग-अलग ब्रांचों में खाते हैं। इसके अलावा दिल्ली के स्टेट बैंक और इटावा के बैंक और बड़ौदा में भी पार्टी के खाते हैं।

 


आपको बता दें कि एक जनवरी 2017 को अखिलेश यादव के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के बाद से पार्टी पर वर्चस्व की जंग तेज हो गई है। समाजवादी पार्टी के प्रदेश कार्यालय पर अखिलेश खेमा पहले ही कब्जा कर चुका है। इसके अलावा प्रदेश के तमाम जिला अध्यक्षों को भी बदल दिया गया है।


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

दिल्ली यूनिवर्सिटी में एबीवीपी की सरेआम गुंडागर्दी

20 साल बाद कोर्ट को पता चला फर्जी था भोजपुर एनकाउंटर

गर्व से कहो, हम गधे हैं!

मुझे प्रधानमंत्री का कुत्ता कहा गया- तारिक फतेह

उमा भारती के गढ़ में सबसे मजबूत नजर आ रही BSP!

झारखंडवासियों को शराब पिला कर लूटना चाहती सरकारः हेमंत सोरेन

भाजपा ने विधायक ने मुख्यमंत्री के खिलाफ मोर्चा

मोदी के श्मशान वाले बयान की मायावती ने खोली पोल

आर्थिक तंगी और कर्ज ना उतार पाने के कारण किसानों ने की आत्महत्या

सपा को समर्थन करने पर नीतीश ने जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष को निकाला

पांच सालों में मायावती ने कराए खूब काम, मीडिया को दिखीं सिर्फ मूर्तियां

प्ले स्कूल में 3 साल की छात्रा के साथ रेप