National Dastak

x

आचार संहिता का सरेआम उल्लंघन, सपा प्रत्याशी ने बिना अनुमति निकाला रोड-शो

Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो Date : 2017-01-09 Time : 13:14:20 PM

आचार संहिता का सरेआम उल्लंघन, सपा प्रत्याशी ने बिना अनुमति निकाला रोड-शो

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश में चुनाव आचार संहिता लागू होने के साथ ही इसके उल्लघन के मामले भी सामने आने लगे है। पहले मेरठ में बीजेपी के सांसद द्वारा विवादित बयान देकर चुनावी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया गया और अब प्रदेश की सत्ताधारी पार्टी सपा के एक प्रत्याशी ने प्रशासन की अनुमति लिए बिना ही रोड-शो निकाल चुनाव आचार संहिता की सरेआम धज्जिया उडाई। 

 

 

 

पढ़ें-'साक्षी महाराज साधु नहीं लफंदर है, गुंडा एक्ट में भेजो जेल'

 

मामले के तूल पकडने पर पुलिस और प्रशासन की टीम ने सपा प्रत्याशी और उनके समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया और साथ ही उनकी गाड़ियों को भी सीज कर दिया है। पुलिस की इस कारवाई के बाद सपा प्रत्याशी के समर्थकों ने कोतवाली के बाहर जमावड़ा लगा नारेबाजी की। जिसके बाद पुलिस ने लाठी फटकार कर भींड को खदेड़ दिया। हालांकि प्रशासन ने सपा प्रत्याशी को दो घंटे बाद पांच लाख रुपये के मुचलके पर छोड़ा दिया।

 


खबरों के मुताबिक रविवार सुबह करीब ग्यारह बजे सपा प्रत्याशी राशिद मलिक बिना प्रशासन की अनुमति के अपने समर्थकों के साथ रोड-शो के लिए साहिबाबाद से लोनी पहुंचे। सपा प्रत्याशी गाड़ी की छत पर बैठकर लोगों का अभिनंदन कर रहे थे। उनके साथ इस रोड-शो में करीब सौ गाड़ियां और इतनी ही बाइकें थीं। साथ ही एक टेंपो में डीजे भी चल रहा था। जब इस बात की जानकारी एसडीएम प्रेम रंजन को मिली तो वह सीओ श्रीकांत प्रजापति, तहसीलदार अजीत परेश, नायब तहसीलदार नीरज द्विवेदी के लेकर मौके पर पहुंचे गए। अधिकारियों ने बिना अनुमति के रोड शो निकालने वह आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में सपा प्रत्याशी को हिरासत में ले लिया।


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

चुनाव आयोग से मुलायम सिंह को झटका, अखिलेश को मिली ‘साइकिल’

'दंगल गर्ल' जायरा वसीम खान के समर्थन में आए लोग, ट्रोलर्स को हड़काया

समाजवादी पार्टी के दो-दो अध्यक्ष?

'शिक्षा कोई कमोडिटी नहीं है'

सड़क सुरक्षा मामले में सुप्रीम कोर्ट की राज्यों को कड़ी फटकार

प्रोटीन की कमी से बढ़ता है डिप्रेशन, हो सकता है गर्भावस्था के लिए खतरनाक

जोड़ियां बनाने में मर्दवादी क्यों है ईश्वर?

महबूबा मुफ्ती से मुलाकात के बाद दंगल गर्ल जायरा खान ने मांगी मांफी

लेनोवो स्मार्टफोन की कीमतों में हुई 3 हजार रुपए की गिरावट

छात्र निष्काशन मामले में आईआईएमसी के डीजी का अजीब तर्क

'हनुमान चालीसा' के सहारे इस हाइवे पर सफर करते हैं लोग

IIMC के निष्काषित छात्र की मां ने लिखी DG के नाम चिट्ठी