Switch to English

National Dastak

x

ये है सहारनपुर की BJP प्रायोजित हिंसा का सच...

Created By : दिलीप मंडल Date : 2017-03-21 Time : 15:59:25 PM


ये है सहारनपुर की BJP प्रायोजित हिंसा का सच...

सहारनपुर में आंबेडकरवादियों की कोई विवादित शोभा यात्रा नहीं निकली थी। आंबेडकरवादी परंपरा है कि संविधान और नियम तोड़कर कोई काम नहीं करना। वह शोभा यात्रा आरएसएस की थी। नेतृत्व बीजेपी के सासंद राघव लखनपाल शर्मा कर रहे थे, उनपर दंगों के पुराने आरोप रहे हैं।


मीडिया इसे दलितों और मुसलमानों का टकराव बता रहा है। माना कि मीडिया बहुत ताकतवर है और इस समय पूरी तरह RSS के साथ है। लेकिन वह भी नहीं छिपा पा रहा है कि शोभा यात्रा का नेतृत्व शर्मा कर रहे थे।

 

 


बीजेपी ने प्रशासन द्वारा प्रतिबंधित किए गए मार्ग से शोभायात्रा निकालने की शरारत की। पुलिस ने रोका। नहीं माने। मारपीट की। हंगामा किया। इससे आंबेडकरवादियों का क्या लेना-देना। बीजेपी की शोभायात्रा, योगी की पुलिस। निपट लें।

 

पढ़ें- योगीराज: सहारनपुर में भीषण सांप्रदायिक दंगा, BJP सांसद ने SSP के साथ की मारपीट


जब बाबा साहेब ने 22 में से अपनी दूसरी प्रतिज्ञा में कहा था कि मैं राम में आस्था नहीं रखूँगा और न ही उनकी पूजा करूँगा, तो सहारनपुर में बीजेपी की आंबेडकर शोभा यात्रा में जयश्री राम के नारे क्यों लगाए गए। वह भी प्रशासन द्वारा प्रतिबंधित मार्ग पर।

 

Image may contain: 1 person, standing, crowd and outdoor


इस जुलूस का आंबेडकरवादियों से क्या लेना देना। यह बीजेपी सांसद शर्मा जी का शक्ति प्रदर्शन था। इसलिए उन पर मुकदमा हुआ है।


संपादन- भवेंद्र प्रकाश


खबरों की अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर और Youtube पर फॉलो करें---




Latest News

माओवादियों ने जारी किया ऑडियो, कहा- आदिवासी महिलाओं की इज्‍जत लूटने का बदला लिया

योगीराजः आठवीं की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म कर रोड पर छोड़ा

वारसा विश्वविद्यालय में 'भारतीय लोकतंत्र के सात दशक' पर बोले उप-राष्ट्रपति

JNU को बदनाम करने वाली वेबसाइट्स के खिलाफ छात्रों ने दर्ज कराई शिकायत

मोदी राज: 'डिजिटल इंडिया' के दौर में चिप लगाकर करते थे पेट्रोल चोरी

गवर्नमेंट की गलत पॉलिसी की वजह शहीद हुआ बेटा- कैप्टन आयुष यादव के पिता

BJP सांसद ने पुलिस अधिकारी को दी खाल उतरवाने की धमकी

बढ़ी मुश्किलें: बंबई हाईकोर्ट ने 'राधे मां' के खिलाफ बयान दर्ज करने के दिए आदेश

डीजीसीईआई ने पकड़ी 15,047 करोड़ रुपये की कर चोरी

योगीराजः आठ साल गैरहाजिर रहे सिपाही का हो गया प्रमोशन

गोरखपुर: समाधि लेने पहुंचे 'ढोंगी बाबा' को पुलिस ने पकड़ा

इन दलित छात्रों ने साबित कर दिया कि टैलेंट सवर्णों की जागीर नहीं