fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

ऐटा मे दलित छात्र को रायफल की नौक पर तार से बांधकर पीटा

dalit chatr aita

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर दलित पर हमले की शर्मनाक हरकत सामने आई है जहा आईटीआई मै  पढ़ रहे दलित छात्र को कुछ दबंगो ने राइफल की नौक पर तारो से बाँध कर उसकी जमकर पिटाई कर डाली।

Advertisement

दरसल यह पूरा मामला निधौली रोड के हरिनगर का है यहाँ रहने वाला अंकित नाम का लड़का ऐटा के आईटीआई मे सेकण्ड ईयर का छात्र है एक महीने पहले जब अंकित अपने घर से चारा लेने कही जा रहा था तभी रास्ते में बनगांव के रहने वाले बंटी जोकि वहां का दबंग है उससे कहासुनी हो गई उस समय तो आसपास के लोगो ने बीच-बचाव करके मामला शांत करवा दिया था।

पर जब अंकित कल शाम अपने पिताजी की ख़राब बाइक को ठीक करवाने जा रहा था तभी रास्ते में दबंग बंटी और उसके कुछ साथियो ने अंकित को फिर से रास्ते में घेर लिया और अंकित को रायफल की नोक पर  गाडी मे बैठा कर अगवा करके अपने घर पर ले गए, जहा उसको तार से बाँध कर तमंचों को बटो और डंडो से जमकर  पिटाई करी, और उससे जातिसूचक शब्द भी कहे। गंभीर रूप से घायल अंकित को वह लोग वही पर छोड़ कर चले गए।

बुरी तरह से घायल अंकित ने किसी तरह से इस घटना की पूरी सूचना अपने परिवार वालो को दी जिसके बाद परिजन कुछ स्थानियो लोगो को लेकर थाने मे शिकायत दर्ज कराने पहुचे, पहले तो पुलिस ने इस मामले पर करवाई करने से मना कर दिया जिसकी वजह से अंकित के परिवार वालो और पुलिस के बीच में बहस हो गई बाद में एसएसपी के इस मामले दखल देने के बाद केस को दर्ज कर लिया गया है और जल्द ही दबंग बंटी और उसके साथिओ को जल्द ही गिरफ्तार करने का आशवासन देने की बात कही है ।


1 Comment

1 Comment

  1. subhash Chandra

    September 29, 2018 at 4:15 pm

    This is shocking our Ancient Law does permit It’s sequel to Game of Nehru Family even after partiton . Gita – The most revered Hindu scripture says Karma theory which is the Supreme & no division of society. Due to the occult,cunning mentality himself & his family Rule supported & nourished by Politics to Divide to Rule & hatred of Jihadi – Nehrivian Politics . He was a Fake, Pandit/ Hindu by Accident to ruin Bharat –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved