fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

भाजपा CM त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिया ऐसा बयान, सोशल मीडिया पर खूब उड़ा मज़ाक

trivendra-singh-rawat-cows-exhale-oxygen-says-uttarakhand-chief-minister-

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का एक अजीब बयान सामने आया है। मुख्यमंत्री ने गाय को लेकर बयान दिया है। उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट के बाद अब राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी वही राग गा रहे है कि गाय ऑक्सीजन छोड़ने वाला एकमात्र पशु है उन्होंने दावा किया है कि विश्व भर में  गाय ही एक ऐसी जानवर है जो ऑक्सीजन को बाहर छोड़ती है। गाय के संपर्क में रहने से सांस लेने में होने वाली समस्याएं भी ठीक हो जाती है। मुख्यमंत्री रावत का यह वीडियो मंगलवार को वायरल हुआ। वीडियो में मुख्यमंत्री गाय, उसके मूत्र और गोबर के चिकित्सीय गुणों के बारे में बता रहे हैं। वायरल वीडियों में मुख्यमंत्री रावत कहते है कि गाय ही एक मात्र ऐसी जीव है जो ऑक्सीजन छोड़ती है और ऑक्सीजन को ही अंदर लेती है।

Advertisement

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत वीडियों में एक ओर दावा करते नजर आ रहे हैं। वह फिर दावा करते हैं कि गाय की मालिश करने से सांस संबंधी बीमारियां ठीक हो जाती है। गाय के पास में रहने से क्षय रोग भी ठीक हो जाता है। उन्होंने कहा कि पशुपालन मंत्री रहते हुए उन्होंने इसके बारे में वैज्ञानिक अध्ययन भी कराया था। रावत वीडियो में कहते दिख रहे हैं, ‘‘गाय के गोबर और गौमूत्र में कितनी ताकत है और हमारे शरीर, त्वचा, हृदय और किडनी के लिये यह कितना फायदेमंद है, वैज्ञानिक आज इसे प्रमाणित कर रहे हैं.”

इससे पहले प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष और नैनीताल के सांसद अजय भट्ट का भी एक अजीब बयान सामने आया था। उन्होंने कहा था कि गर्भवती महिलाएं प्रसव की पीड़ा से बच सकती है। इसके लिए उनको बागेश्वर जिले में पड़ने वाली गरूण गंगा का पानी पीना चाहिए। मुख्यमंत्री का बयान सामने आते ही प्रदेश की सियासत गर्म हो गई। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने मुख्यमंत्री के बयान का बचाव किया। सीएमओ अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जो कहा वह यहां पर पहाड़ों पर आम धारणा है।  

रावत के इस बयान के बाद फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर यूजर मजे ले रहे हैं कि आपकी इस अनोखी खोज के लिए आपको नोबेल पुरस्कार मिलना चाहिए। उत्तराखंड के सीएम के दिए अजीबोगरीब बयान पर नवीन छेत्री लिखते हैं- अब हॉस्पिटल में ऑक्सीजन मास्क की जगह काव मास्क लगाएं।

वही तरुण कुमार मिश्रा लिखते है की ” गोरखपुर मैं डॉक्टरों की जगह गइया बंधी होतीं तोह शायद बच्चे बच जाते” डॉ. प्रिया जीवनधाम लिखती हैं-  उत्तराखंड के सीएम को काव फैलोशिप शुरू करना चाहिए और लोगों को जागरूक करना चाहिए। गौरतलब है कि भाजपा के कोई न कोई मंत्री हर बार अक्सर अपनी अजीब बयानों की वजह से चर्चा में रहते हैं। 


Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved