fbpx
ट्रेंडिंग  
ट्रेंडिंग  
देश

अमृतसर रेल हादसे के बाद रेल प्रशासन ने लिया सबक, तय की सबकी जिम्मेदारियां

अमृतसर ट्रेन हादसे को करीब एक सप्ताह हो गया जिसमे रावण दहन के दौरान 61 लोगो की मौत हो चुकी थी जबकी 100 से अधिक लोग घायल हो गए थे। भले ही अमृतसर ट्रेन हादसे में रेलवे ने अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया हो परन्तु इस घटना के चलते रेल प्रशासन ने बड़ी सीख ली है। घटना के एक सप्ताह के बाद ही रेल प्रशासन ने आदेश जारी किये और रेल प्रशासन से जुड़े सभी लोगो की जिम्मेदारी तय कर दी है। इसके साथ ही यह बात भी स्पष्ट कर दी की किसी भी स्तर की लापरवाही को रेल प्रशासन बर्दाश्त नहीं करेगा। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement

रेल प्रशासन ने अमृतसर रेल हादसे से सबक लेते हुए रेल प्रशासन दिल्ली मंडल ने एक आदेश जारी किया और सबकी जिम्मेदारी तय कर दी है। इस मामले में रेल प्रशासन ने की-मैन से लेकर स्टेशन मास्टर तक की जिम्मेदारी तय कर दी है। लोको पायलट व गार्ड को यह पूरी तरह से सुनिश्चित करना होगा की रेलवे ट्रेक के आस पास कोई व्यक्ति या भीड़ न हो। ट्रेक के आस पास भीड़ दिखने और त्यौहार आदि के आयोजन पर स्पीड को कम रखे और लगातार हॉर्न बजाते रहे ताकि ट्रेक पर लोगो को ट्रेन के आने का पता चल सके।

गेट मैन को ट्रेक के पास भीड़ दिखने पर और किसी आयोजन के होने की जानकारी नजदीकी स्टेशन को देनी होगी। इसका मतलब यह है की स्टेशन मास्टर, गेटमैन, लोको पायलट,गार्ड या किसी से भी सुचना मिलने पर जीआरपी और लोकल पुलिस को बताना होगा। इतना ही नहीं आरपीएफ को भी यह आदेश दिए गए है की किसी भी वजह से ट्रेक पर भीड़ दिखे तो इस बात की जानकारी तुरंत रेलवे अधिकारीयों को दे।


इसके चलते रेल प्रशासन रेलवे ट्रेक के पास हो रहे सामाजिक व धार्मिक संगठनो के आयोजनों की सुचना समय से पहले देने को कहेगा। इसके साथ ही रेलवे अफसरों को यह आदेश किया दिया गया है की वे उन जगहों की लिस्ट बनाये और उन्हें चिन्हित करे जहा ट्रेक के पास हर साल आयोजन होते है। ताकि फिर से अमृतसर जैसा कोई रेल हादसा न हो पाए।

आपको बता दे की पिछले सफ्ताह अमृतसर में जोड़ा फाटक पर रावण दहन के दौरान बड़ा हादसा हो गया था। जालंधर-अमृतसर डीएमयू ट्रेन की चपेट में आने से 62  लोगो की कट कर मौत हो गयी थी। इस हादसे के बाद देशभर में इसकी निंदा की गयी और पंजाब सरकार के साथ रेलवे प्रशासन पर भी सवाल उठाये गए।  इस मामले पर अब कई स्तरों पर जांच की जा रही है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top

© copyright reserved National Dastak. All right reserved